rajasth-cabinet-ki-baithak-22-mai-ko-krona-sankraman-ki-teesri-lehar-third-wave-black-fungus-niyantran-aur-lockdown-badhane-par-ho-sakti-hai-charcha-vyapariyon-ne-kaha-mai

राजस्थान मंत्रिपरिषद (Rajasthan Cabinet) की बैठक 22 मई को, कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर, ब्लैक फंगस नियंत्रण और लॉकडाउन बढ़ाने पर हो सकती है चर्चा, व्यापारियों ने कहा मई तक जारी रहे सम्पूर्ण लॉकडाउन

जयपुर

राजस्थान में कोरोना की दूसरी लहर से राहत मिलने लगी है और लगातार नए संक्रमितों की संख्या में कमी के साथ ठीक होने वालों का भी आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। इसी बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार दोपहर राज्य मंत्रीपरिषद (Rajasthan Cabinet) की बैठक बुलाई है। कहा जा रहा है कि इस बैठक में कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर की तैयारियों, ब्लैक फंगस नियंत्रण और लॉकडाउन को आगे बढ़ाने पर भी चर्चा हो सकती है।

प्रदेश सरकार की ओर से लगाया गया सम्पूर्ण लॉकडाउन 24 मई को खत्म होने जा रहा है। ऐसे में सभी की नजरें सरकार की ओर टिकी हुई है कि क्या सरकार लॉकडाउन को आगे बढ़ाएगी या फिर लॉकडाउन में कुछ रियायतें देगी। जौहरी बाजार व्यापार मंडल के अध्यक्ष कैलाश मित्तल का कहना है कि कोरोना की दूसरी लहर की संक्रामकता को देखते हुए सरकार को अभी लॉकडाउन को आगे बढ़ाना चाहिए।

हालांकि व्यापारी वर्ग लॉकडाउन से काफी परेशान है, और चाहता है कि सरकार परकोटे में कुछ घंटों के लिए दुकानें खोलने की अनुमति दे, लेकिन व्यापार मंडलों की ओर से व्यापारियों को यही समझाया जा रहा है कि कमाई तो आगे भी की जा सकती है, लेकिन इस समय व्यापारियों और उनके परिवार की संक्रमण से सुरक्षा सर्वोपरी है।

पूर्व पार्षद अनिल शर्मा का कहना है कि सरकार ने लॉकडाउन लगाने में देरी करके जो गलती की थी, उसे लॉकडाउन खोलने में नहीं दोहराना चाहिए। सम्पूर्ण लॉकडाउन के कारण ही संक्रमण की रफ्तार पर लगाम लगाने में कामयाबी मिली है। इस बार संक्रमण गांवों में भी फैल चुका है, ऐसे में सरकार को लॉकडाउन हटाने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। सरकार को कम से कम सात से दस दिन तक लॉकडाउन बढ़ाना चाहिए, ताकि गांवों तक में संक्रमण काबू में आ सके।

जब तक वैक्सीनेशन का काम सम्पूर्ण प्रगति पर नहीं आ जाए, तब तक तीन से चार महीनों तक रात में कर्फ्यू और वीकएंड कर्फ्यू लगाए रखना चाहिए। गैदरिंग वाले सभी कार्यों पर कुछ महीनों तक रोक लगी रहे। सामाजिक, धार्मिक और राजनीतिक समारोहों पर पूर्ण रोक रहे। दिन में भी धारा 144 की सख्ती से पालना हो।

मुहाना फल सब्जी टर्मिनल मार्केट के अध्यक्ष राहुल तंवर का भी यही कहना है कि राज्य सरकार ने सही समय पर निर्णय लेकर लॉकडाउन लगाया, जिससे संक्रमण जल्द ही काबू में आ गया। ऐसे सरकार को अभी लॉकडाउन मई महीने तक जारी रखना चाहिए। मुहाना मंडी में फल और सब्जियों का अंतरराज्यीय व्यापार होता है और यह उत्पाद ऐसे हैं, जो जल्द ही खराब हो जाते हैं, ऐसे में सरकार को मुहाना मंडी में व्यवसाय का समय सुबह छह बजे से 11 बजे के बजाए बढ़ाकर सुबह 4 बजे से 11 बजे तक करना चाहिए, ताकि किसानों को अपनी फसल बेचने में राहत मिलेगी।

जयपुर व्यापार महासंघ के अध्यक्ष सुभाष गोयल का कहना है कि नए संक्रमित मरीजों की संख्या में निरंतर कमी हो रही है और रिकवरी रेट भी बढ़ रहा है, इसलिए सरकार को थोड़ी-थोड़ी रियायत देनी शुरू कर देनी चाहिए। रियायत मिलने से व्यापारियों को काफी राहत मिलेगी। सरकार किराणा के अलावा अन्य व्यापारियों को भी सप्ताह में दो या तीन दिन कुछ समय तक दुकानें खोलने की अनुमति दे। यदि सरकार रियायत देती है तो व्यापारियों की भी जिम्मेदारी रहेगी कि वह कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *