जयपुरधर्म

राम मंदिर मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा समारोह, भजनलाल सरकार का बड़ा एलान

राजस्थान की भजनलाल सरकार ने अयोध्या राम मंदिर में आगामी 22 जनवरी को होने वाले मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले बड़ा एलान किया है। सरकार की घोषणा के अनुसार 22 जनवरी तक विशेष साफ सफाई और सजावट करने वाले मंदिरों में से 100 मंदिरों को देवस्थान विभाग की ओर से पुरस्कृत किया जाएगा।
राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव की तैयारियों को लेकर भाजपा ने आज से राजस्थान के सभी धार्मिक और सार्वजनिक स्थलों पर साफ-सफाई का अभियान शुरू किया है। धार्मिक स्थलों पर आयोजित कार्यक्रमों से भारतीय जनता पार्टी ने जन-जन को 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव से जोड़ने की कवायद कर रही है। वहीं राज्य सरकार ने इस अभियान को दमदार तरीके से आगे बढ़ाने के लिए देवस्थान विभाग के साथ साथ निजी मंदिरों में बेहतर साफ सफाई करने वालों को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।
आगामी 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के लिए भाजपा अब भगवान के दर सहित आम जनता तक पहुंचने की कवायद में जुट गई है। 14 जनवरी को मकर सक्रांति के पर्व के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी ने सभी धार्मिक स्थलों और सार्वजनिक स्थलों पर साफ सफाई के साथ साथ उनकी सजावट का अभियान शुरू किया है।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी ने साफ सफाई और सजावट के इस पखवाड़े की शुरुआत छोटी काशी के नाम से मशहूर जयपुर के प्राचीन श्री रामचंद्र जी मंदिर से की। प्रदेश अध्यक्ष जोशी ने खुद श्री रामचंद्र जी के मंदिर में देवस्थान विभाग मंत्री जोराराम कुमावत और विधायक के साथ साथ भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ झाड़ृ लगाकर विशेष अभियान को शुरू किया है। भाजपा ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इस मिशन को जन जन तक पहुंचाने के लिए सभी भामाशाहों के साथ साथ आम जन से सहयोग करने की अपील की है।
मंदिरों को दस-दस हजार रुपये का भुगतान किया गया है
21 जनवरी तक देवस्थान विभाग को 519 से ज्यादा मंदिरों को साफ सफाई और सजावट का जिम्मा सौंपा गया है। देवस्थान विभाग के मंदिरों में साफ-सफाई और सजावट के लिए सरकार ने दस-दस हजार रुपये का भुगतान भी किया है। मंदिरों की कायाकल्प करने और उनकी साफ सफाई में सहयोग करने के लिए राज्य सरकार आमजन से भी अपील कर रही है।
सभी मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की व्यवस्था की गई है
देवस्थान विभाग मंत्री ने बताया कि 21 जनवरी के बाद 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव के दिन साफ सफाई के साथ साथ देवस्थान विभाग के सभी मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की व्यवस्था की गई है। देवस्थान विभाग के मंदिरों के साथ साथ सरकार ने सभी निजी ट्रस्ट के मंदिरों, सार्वजनिक स्थानों पर बने मंदिरों और निजी मंदिरों को भी साफ-सफाई और सजावट के मिशन में जोड़ा है।
विधायकों, सांसदों और नेताओं को भी जिम्मेदारी सौंपी गई है
देवस्थान विभाग मंत्री जोगाराम कुमावत ने कहा है कि 22 जनवरी तक विशेष साफ सफाई और सजावट करने वाले मंदिरों में से 100 मंदिरों को देवस्थान विभाग की ओर से पुरस्कृत किया जाएगा। पुरस्कार देव स्थान विभाग के मंदिरों के साथ साथ निजी, ट्रस्ट और सार्वजनिक स्थलों को भी मिल सकते हैं। मंत्री ने कहा है कि बेहतर सजावट और सफाई करने वाले मंदिरों से ऑनलाइन आवेदन विभाग की वेबसाइट पर मांगे जाएंगे। धार्मिक स्थलों पर सजावट के लिए पार्टी ने सरकार ने अपने सभी विधायकों, सांसदों और नेताओं को भी जिम्मेदारी सौंपी है।

Related posts

पार्षद (corporator)के हंगामे के बाद भाजपा नेता पहुंच गए थाने का घेराव करने, विद्याधर नगर (Vidyadhar Nagar) कच्ची बस्ती प्रकरण में भाजपा क्यों मौन?

admin

प्रदेश के सभी स्कूलों में आज सूर्य नमस्कार का सामूहिक अभ्यास..!

Clearnews

हाउसिंग बोर्ड का प्रोजेक्ट मैनेजर 1 लाख की घूस लेते गिरफ्तार

admin