क्राइम न्यूज़जयपुर

18 हजार लीटर अलग-अलग प्रसिद्ध ब्रांड के नाम से बिकने वाला नकली तेल बरामद

Rajasthan की राजधानी जयपुर के अतिरिक्त आयुक्त (खाद्य सुरक्षा) के नेतृत्व में जयपुर की स्पेशल केंद्रीय टीम और अजमेर के खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने अजमेर के गोदाम पर द्वारा छापा मार कर 18 हजार लीटर नकली तेल बरामद किया है। यह बेहद घटिया क़्वालिटी का मिस ब्रांड तेल अगर बाजार में पहुंचता तो लोगों के जनस्वास्थ्य को गंभीर खतरा हो सकता था। टीम ने बृहस्पतिवार को पार्वती ऑयल मिल्स, राम ऑयल एंड पेट्रोकेमिकल्स और पार्वती एडिबल इंडस्ट्रीज पर्वतपुरा इंडस्ट्रियल एरिया पर छापा मर कर ये कार्यवाही की। इनकी लबे समय से गड़बड़ियों कि शिकायत विभाग को मिल रही थी।
जानकारी के अनुसार इन ऑयल मिल्स में विभिन्न प्रसिद्ध ब्रांडों के डुप्लीकेट और अलग-अलग लेबल लगाकर मिस ब्रांड और मिलावट के साथ तैयार किया जा रहे थे। हैरानी की बात यह है कि मिलावटखोरों कि हिम्मत इतनी बढ़ी हुई है ये पता चल जब पाया गया कि पार्वती पोस्टमैन प्लस मूंगफली तेल रियल स्टार, पार्वती स्वातिक, पार्वती पोस्टमैन प्लस,रियल फ्रेश, पोस्टमैन प्राइड, पोस्टमैन स्टार, प्रोफिट, रियल फ्रेश लाइट, पार्वती स्वाद, पार्वती स्वास्तिक, पार्वती स्वाद,, पार्वती स्वातिक, पार्वती प्लस, न्यू पोस्टमैन गोल्ड, पार्वती प्लस, महारथी, पोस्टमैन गोल्ड, ऐसे अनेक ब्रांड मौके पर एक साथ पैक किये जा रहे थे।
आयुक्त खाद्य सुरक्षा एवं ड्रग कंट्रोल इकबाल खान के निर्देशन को पार्वती ऑयल मिल्स, राम ऑयल एंड पेट्रोकेमिकल्स और पार्वती एडिबल इंडस्ट्रीज पर्वतपुरा इंडस्ट्रियल एरिया अजमेर के गोदाम पर एक साथ छापा मारा गया।
सरेआम हो रही थी ” इसकी टोपी उसके सर “
हैरानी की बात ये भी सामने आई कि पार्वती ब्रांड आयल के कार्टून में पोस्टमैन पैक किया जा रहा था। मौके पर मौजूद कर्मचारी किसी तरह का संतोष जनक जवाब नहीं दे सके। बताया जाता है कि इसके मालिक भगवान दास हरवानी हैं। जिनकी लंबे समय से विभाग को गड़बड़ी की सूचनाएं मिल रही थीं।
एक पेड़ देश के नाम लगाएं, प्रदूषित पर्यावरण को बचा सकें : दिलावर
मौके पर लगभग 18 हजार लीटर के आसपास का स्टॉक पाया गया है। जिसको सीज करके सभी ब्रांड के सैम्पल भी लिए गए हैं। यह सम्पूर्ण कार्यवाही अति खाद्य आयुक्त, खाद्य सुरक्षा,पंकज ओझा के नेतृत्व में की गई। मौके पर जयपुर से आयी टीम के एफएसओ विनोद शर्मा, अमित शर्मा, देवेंद्र राणावत, और अजमेर की टीम के सुशील चोटवानी, केसरीनन्दन शर्मा और अजय मोयल द्वारा सैंपलिंग और सीजर की कार्यवाही की गई।

Related posts

उदयपुर में रेल पटरियों पर डेटोनेटर से विस्फोट, पटरियां टूटी, नट—बोल्ट भी गायब, पुलिया को नुकसान

admin

भाजपा सांसद किरोड़ीलाल मीणा का आरोप रीट में हुई 400 करोड़ की धांधली

admin

राजस्थानः मतदान दिवस से 48 घण्टे पहले और मतदान समाप्ति तक रहेगा सूखा दिवस

Clearnews