राजधानी में डेढ़ घंटा झमाझम बारिश, सड़कों पर बहा दरिया

जयपुर पर्यावरण

जयपुर। सावन के दूसरे ही दिन मानसून अपने रंग में आ गया। राजधानी में शाम को डेढ़ घंटे से अधिक समय तक झमाझम बारिश हुई, जिससे सड़कों पर दरिया बह निकला। शाम पौने पांच बजे के करीब शहर में तेज बारिश का दौर शुरू हुआ जो शाम सवा छह बजे तक जारी रहा। इस समय के दौरान पूरे शहर में तेज बारिश होती रही।

मात्र 15 मिनट की बारिश के बाद ही सड़कों पर पानी का सैलाब आ गया। कई इलाकों में तो घुटनों तक पानी बहने लगा। सड़कों पर यातायात बंद हो गया। असल समस्या बारिश बंद होने के बाद शुरू हुई। बारिश बंद होते ही लोग सरकारी और निजी कार्यालयों से लोगों का घरों की ओर निकलने का सिलसिला शुरू हो गया।

लोग सड़कों पर भरे पानी के बीच से ही घरों को जाने लगे। ऐसे में सड़कों पर कई जगहों पर जाम की हालत हो गई, जो रात 8 बजे तक बनी रही। सड़कों पर भरे पानी में सबसे ज्यादा समस्या दुपहिया वाहन चालकों को हुई। कई जगहों पर पानी का लेवल ज्यादा होने के कारण दुपहिया वाहन बंद हो गए।

शहर के परकोटा इलाके, सचिवालय के पास, एमआई रोड, संसार चंद्र रोड, गवर्नमेंट हॉस्टल, पांच बत्ती, त्रिमूर्ति सर्किल, रामबाग, बाईस गोदाम, सोढ़ाला, रेलवे स्टेशन, नारायण सिंह सर्किल, जेडीए सर्किल, टोंक रोड, दुर्गापुरा, चौमूं पुलिया, सहित कई अन्य इलाकों में जाम के हालात दिखे।

दुकानों में भरा पानी

शहर के कई निचले इलाकों में तो घरों और दुकानों तक में पानी आ गया। लोग पानी को रोकने और अंदर आए पानी को बाहर निकालते दिखाई दिए। चांदपोल बाजार में स्मार्ट सिटी का काम चलने के कारण बारिश के पानी की निकासी नहीं हो पाई। इसके चलते कई दुकानों में पानी भर गया। बाजार के सभी बरामदे पानी से भर गए और उनकी छतें भी चूने लगी।

चांदपोल बाजार व्यापार मंडल के अध्यक्ष सुभाष गोयल ने बताया कि बाजार में पानी की निकासी का रास्ता नहीं होने के कारण स्मार्ट सिटी अधिकारियों को पानी निकालने के लिए पंप भेजने की मांग की गई है। अधिकारियों को कहा गया है कि मानसून के पूरे समय पंप बाजार में तैनात रहे, ताकि जब भी बारिश हो पानी की निकासी की जा सके।