Uncategorized

राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना: काम करते हुए किसान का अंग-भंग या मृत्यु होने पर 2 लाख रुपये तक की मदद, अब तक 11 हजार 777 पीड़ित किसानों को मिला 176 करोड़ 37 लाख रुपये का आर्थिक संबल

राजस्थान सरकार द्वारा राज्य के किसानों को आर्थिक संबल देने की दृष्टि से कई अभूतपूर्व निर्णय किये गए हैं। राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना भी किसानों को संकटपूर्ण समय में आर्थिक मदद देने की ऐसी ही एक योजना है। इस योजना के माध्यम से किसान का काम करते समय दुर्घटनावश अंग-भंग होने अथवा मृत्यु होने पर किसान को 2 लाख रुपये तक का आर्थिक सहयोग दिया जाता है।
योजना के तहत राज्य में कृषि कार्य करते समय होने वाली दुर्घटनाओं में कृषक एवं खेतिहर मजदूर की मृत्यु होने की स्थिति में 2 लाख रुपये की सहायता का प्रावधान किया गया है। इसी तरह अंग-भंग होने की स्थिति में जैसे की रीड की हड्डी टूटने, सिर पर चोट लगने से कोमा में जाने, दोनों हाथ, दोनों पैर, दोनों आंख अथवा कोई एक अंग कटकर अलग होने पर 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद की जाती है।
योजना के तहत 11 हजार 500 से अधिक किसान लाभान्वित
कृषि विपणन विभाग निदेशक पुष्पा सत्यानी ने बताया कि योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा 11 हजार 777 किसानों को मंडी समितियों के जरिये 176 करोड़ 37 लाख 68 हजार रुपये का भुगतान किया गया हैं। जिनमें से दिसंबर 2018 से मार्च 2019 तक 989 किसानों को 1381.98 लाख रुपये का, वर्ष 2019-20 में 2 हजार 981 किसानों को 4303.50 लाख रुपये का, वर्ष 2020-21 में 2 हजार 275 किसानों को 3457.10 लाख रुपये का, वर्ष 2021-22 में 2 हजार 806 किसानो को 4227.10 लाख रुपये का, 2022-23 में 2 हजार 321 किसानों को 3468.80 लाख रुपये का एवं अप्रेल 2023 से मई माह तक 405 किसानों को 799.20 लाख रुपये की सहायता राशि प्रदान की गई है। सत्यानी ने बताया कि योजना का लाभ लेने के लिए किसान राज किसान साथी पोर्टल पर जन आधार और मोबाइल नंबर के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।
डाली बाई और मोती बाई के परिवार को मिला आर्थिक संबल
उदयपुर जिले की तहसील गिर्वा निवासी डाली बाई ने बताया कि उनके पति वेणीराम का अगस्त 2022 में खेत मे मक्के की फसल में खरपतवार हटाते समय सांप काटने से मृत्यु हो गई थी। उन्होंने राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना में सहायता राशि के लिए ऑनलाइन आवेदन किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा राजस्थान किसान महोत्सव में उन्हें 2 लाख रुपये का चेक दिया गया है। इसके लिए डाली बाई मुख्यमंत्री का बहुत-बहुत धन्यवाद व्यक्त करती हैं।
इसी जिले की तहसील सराड़ा निवासी मोती बाई ने बताया कि उनके पति वाल पटेल का सितम्बर 2022 में खेत में बाजरे की फसल काटने के दौरान सांप काटने से मृत्यु हो गई थी। उन्होंने राजीव गांधी कृषक साथी सहायता योजना में सहायता राशि के लिए ऑनलाइन आवेदन किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा राजस्थान किसान महोत्सव में उन्हें 2 लाख रुपये का चेक दिया गया है।

Related posts

यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय बोले, अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे राहुल गांधी..!

Clearnews

A Home So Uncluttered That It Almost Looks Empty

admin

Bose’s Most Iconic Headphones Are On Flash Sale

admin