REET exam meeting

रीट में एक ही पेपर की अभिशंषा , वाणिज्य विद्यार्थियों को भी मौका

जयपुर शिक्षा

जयपुर। शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने रीट परीक्षाओं की समस्त प्रक्रियाएं त्वरित पूरी कर परीक्षा तिथियां जारी करने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं।

उन्होंने अधिकारियों को रीट में आरक्षण व्यवस्था के साथ ही राज्य में लागू इडब्ल्यूएस आरक्षण संबंधित प्रावधान भी रखे जाने, रीट परीक्षा में एक ही पेपर रखने, एनसीटी के पाठ्यक्रम अनुसार परीक्षाएं कराने, वाणिज्य के विद्यार्थियों के लिए भी परीक्षा में अवसर रखने आदि के सबंध में स्पष्ट अभिशंषा पंचायती राज विभाग एवं मुख्यमंत्री स्तर पर प्रेषित किए जाने के लिए निर्देश दिए।

डोटासरा मंगलवार को शिक्षा संकुल में रीट परीक्षा के संबंध में आयोजित विशेष समीक्षा बैठक में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रीट में विकलांग, महिला, परित्यक्ता आदि आठ निर्धारित श्रेणियों के अभ्यर्थियों को प्राप्तांक आधार में वरीयता दिए जाने लिए निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि परीक्षा में वाणिज्य विषय के विद्यार्थियों को भी समाजिक विज्ञान के अंतर्गत सम्मिलित किया जाएगा। इसी तरह परीक्षा में पूर्व में 70 अनुपात 30 के रूप में जो भर्ती प्रक्रिया सम्पांदित कराई जाती थी, उस अनुपात को भी कम किए जाने के संबंध अधिकारियों को हिदायत दी।

डोटासरा ने शिक्षक स्थानान्तरण नीति को प्रदेश में लागू किए जाने के संबंध में नियम प्रक्रिया के तहत कार्यवाही कर उसे केबिनेट में रखे जाने, मुख्यमंत्री की बजट घोषणाओं और जन घोषणा पत्र के शिक्षा विभाग संबंधित बिन्दुओं की क्रियान्विति के लिए भी अधिकारियों को गंभीर होकर कार्य करने के निर्देश दिए।

बैठक में डोटासरा ने कम्प्यूटर शिक्षकों का पृथक काडर बनाए जाने के निर्देश दिए। प्रबोधक पदोंकी पदोन्नति के संबंध में भी बैठक में विशेष रूप से चर्चा की। इस दौरान राजकीय विद्यालयों की पोषक में परिवर्तन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विद्यालयो में गुणवत्ता की शिक्षा विद्यार्थियों को मिले, इसके लिए इनमें पढ़ाने वाले शिक्षकों के शिक्षण की प्रभावी मोनिटरिंग की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *