The Executive Committee of the Municipal Corporation Jaipur Greater will be held again on Monday, in the last meeting, the Commissioner surrounded by questions was not feeling well

सोमवार को फिर आयोजित होगी नगर निगम जयपुर ग्रेटर की कार्यकारिणी समिति, पिछली बैठक में सवालों से घिरे आयुक्त की हो गई थी तबियत नासाज

जयपुर

नगर निगम जयपुर ग्रेटर की कार्यकारिणी समिति की बैठक में सदस्यों के सवालों से घिरे आयुक्त की तबीयत नासाज हो जाने के कारण बैठक को महापौर सौम्या गुर्जर ने बीच में ही स्थगित कर दिया था, लेकिन अब यह बैठक सोमवार को फिर से आयोजित की जाएगी। आयुक्त यज्ञमित्र सिंह देव ने इस बैठक के लिए सूचना जारी की है। कहा जा रहा है कि सोमवार को भी यह बैठक हंगामेदार हो सकती है।

पिछली बैठक में सभी समिति अध्यक्षों ने निगम आयुक्त को घेरने की कोशिश की और सवालों की बौछार लगा दी थी। बैठक में तीन प्रस्तावों के तहत प्रमुख रूप से विकास कार्यों, रोड लाइटों, ठेकेदारों को भुगतान करने और उनकी हड़ताल तुड़वाने के साथ-साथ बोर्ड बैठक में पास किए गए प्रस्तावों पर चर्चा होनी थी, लेकिन ठेकेदारों की हड़ताल तुड़वाने और रोड लाइटों पर चर्चा पूरी हो पाई। इसके बाद ग्रेटर क्षेत्र में विकास कार्यों पर चर्चा शुरू हुई, लेकिन आयुक्त की तबीयत खराब होने के कारण दूसरे और तीसरे प्रस्ताव पर चर्चा नहीं हो पाई।

नहीं टूटी ठेकेदारों की हड़ताल
पिछली बैठक में ठेकेदारों की हड़ताल को लेकर सभी चेयरमैन ने आयुक्त पर सवाल खड़े किए थे कि उन्होंने अपनी तरफ से ठेकेदारों की हड़ताल तुड़वाने के लिए क्या प्रयास किए। आयुक्त सभी सदस्यों को आश्वस्त किया है कि 15 अप्रेल तक ठेकेदारों को भुगतान कर हड़ताल को तुड़वा दिया जाएगा, लेकिन अभी तक ठेकेदारों की हड़ताल नहीं टूट पाई है। हालांकि आयुक्त की ओर से ठेकेदारों को करीब 30 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया है, लेकिन ठेकेदार इस भुगतान को ऊंट के मुंह में जीरे के समान बता रहे हैं और कह रहे हैं कि जब तक उन्हें भुगतान नहीं मिलेगा, तब तक हड़ताल नहीं टूटेगी।

बैठक में आयुक्त ने आश्वस्त किया कि 10 अप्रेल तक हर वार्ड में 200-200 रोड लाइटें उपलब्ध करा दी जाएंगी, लेकिन पार्षदों का कहना है कि अभी तक लाइटें भी उपलब्ध नहीं कराई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *