जयपुर

निजी अस्पतालों में 250 रुपए प्रति डोज दर से लगेगा टीका, कोविड वेक्सीनेशन का तीसरा चरण 1 मार्च से

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने निजी अस्पतालों के लिए कोविड-19 टीकाकरण की प्रति डोज की दर 250 रुपए निर्धारित की है, जो टीका लगवाने वाले व्यक्ति द्वारा सम्बंधित अस्पताल को चुकानी होगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से प्राप्त निर्देशों के अनुसार कीमत का निर्धारण किया गया है। उन्होंने बताया कि निजी अस्पतालों में 250 रुपए प्रति डोज रखी गई है, जिसमें 150 रुपए वैक्सीन कीमत और 100 रुपए निजी अस्पताल का सर्विस शुल्क शामिल है।

निजी अस्पतालों को कोविड वैक्सीन सरकार द्वारा उपलब्ध करवायी जाएगी और अन्य सभी टीकाकरण सम्बन्धी व्यवस्थाएं निजी अस्पताल की रहेगी। कोविड-19 वैक्सीनेशन में 2 डोज प्रत्येक व्यक्ति को लगना जरूरी है। प्रदेश के चयनित राजकीय स्वास्थ्य केंद्रों, सीजीएचएस व आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना से सम्बद्ध चिकित्सालयों में कोविड-19 के टीके नि:शुल्क लगाए जाएंगे।

राजस्थान के मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने स्पष्ट किया है कि कोविड वेक्सीनेशन के तीसरे चरण में 60 साल और अधिक आयु के बुजुर्गों के साथ-साथ 45 से 59 वर्ष के गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों को भी शामिल किया गया है। सरकारी अस्पताल के साथ-साथ निजी अस्पतालों को भी टीके लगाने के लिए अधिकृत किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे वेक्सीनेशन सेंटर्स पर सभी व्यवस्थाओं की सुचारू मॉनिटरिंग करें और जिन लोगों को प्रथम डोज लग गई है उन्हें दूसरी डोज नियत समय पर लगना सुनिश्चित करें।

मुख्य सचिव शनिवार को शासन सचिवालय में कोविड वेक्सीनेशन के तीसरे फेज की तैयारियों से संबंधित बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंस (वीसी) के माध्यम से जिला कलेक्टरों, पुलिस अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा संबंधित विभाग के अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जल्द से जल्द प्राइवेट अस्पतालों के रजिस्ट्रेशन का कार्य करें तथा प्रशिक्षण का काम भी समयबद्ध तरीके से पूरा करें।

उन्होंने बताया कि पिछले फेज में हैल्थ केयर वर्कर्स तथा फ्रंट लाइन वर्कर्स के वेक्सीनेशन पर फोकस किया गया था, जिसके तहत अब तक लगभग 8 लाख लोगों का टीकाकरण किया गया है। उन्होंने बताया कि तीसरे चरण में 45 साल से 59 वर्ष तक के गंभीर बीमारी ग्रस्त व्यक्तियों को भी शामिल किया जा रहा है। ऐसी 20 बीमारियों को चिह्वित भी किया गया है। एक जनवरी 2022 को निर्धारित आयु पूर्ण करने वाले व्यक्ति तीसरे चरण के टीकाकरण के लिए पात्र होंगे।

Related posts

राजस्थान में 4615 करोड़ रुपए के निवेश के प्रस्तावों पर एसईसी ने की चर्चा

admin

पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों का विरोध

admin

अफसरों का इशारा, बाबुओं का खेल, पुरातत्व विभाग राजस्व में लीकेज को रोकने में फेल

admin