When surrounded by police, the prize crook committed suicide by shooting himself in the head

पुलिस से घिरा (surrounded by police) तो इनामी बदमाश (prize crook) ने सिर में गोली मारकर की आत्महत्या (suicide)

क्राइम न्यूज़ जयपुर

खेतड़ी में हत्या के मामले में काट रहा था फरारी, दो साथी फरार, असलहा बरामद

पुलिस थाना खेतड़ी में शराब ठेकेदार की हत्या के मामले में फरारी काट रहे एक इनामी बदमाश (prize crook) ने मंगलवार रात कोटपूतली थाना इलाके के नांगल पंडितपुरा में पुलिस से घिरने के बाद (surrounded by police) देशी कट्टे से सिर में गोली मारकर आत्महत्या (suicide)कर ली।

जिला पुलिस अधीक्षक शंकर दत्त शर्मा ने बताया कि कोटपूतली में नियमित गश्त के दौरान सहायक उप निरीक्षक राकेश कुमार को मुखबिर से सूचना मिली थी कि एक सफेद रंग की स्कार्पियो आरजे 32 यूए 5743 में कुछ बदमाश बानसूर से कोटपूतली की ओर आ रहे हैं। सूचना मिलने के बाद राकेश कुमार ने जाप्ते के साथ बानसूर रोड पर नाकाबंदी कर सघन जांच शुरू की गई।

इसी दौरान सूचना मिली की स्कार्पियो चतुर्भुज की ओर चली गई है। इस पर पुलिस टीम चतुर्भुज की ओर रवाना हो गई। पुलिस द्वारा पीछा किए जाने पर अपराधी अपनी गाड़ी को चतुर्भुज से नांगल पंडितपुरा की ओर चले गए और वहां एक कच्चे रास्ते पर गाड़ी को छोड़कर बाजरे के खेतों में घुस गए।

पुलिस दल ने भी बाजरे के खेतों में घुस कर अपराधियों की तलाशी शुरू कर दी। तलाशी के दौरान अपराधियों ने एक फायर किया। इस पर पुलिस टीम ने उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी गई। कोटपूतली वृत्ताधिकारी और थानाधिकारी भी जाप्ते के साथ मौके पर पहुंच गए। खेतों की घेराबंदी कर ड्रेगन लाइट व वाहनों की लाइटों के जरिए बदमाशों की तलाश तेज की गई। इस दौरान फिर से एक फायर हुआ। तलाशी के दौरान एक बदमाश खेत में मृत्त पाया गया। उसने देशी कट्टे से खुद के सिर में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना पर वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। मौके पर एफएसएल टीम बुलाई गई और उच्चाधिकारियों की निगरानी में घटनास्थल का निरीक्षण शुरू किया गया।

शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि मृतक अपराधी की पहचान रूपचंद उर्फ सुक्ख गुर्जर निवासी दूधवा थाना खेतड़ी, जिला झुंझुनूं के रूप में हुई। सुक्खा की उम्र 22 वर्ष है और उसके पास से एक देशी कट्टा, पांच कारतूस और एक कारतूस का खोल बरामद किया गया। सुक्खा के खिलाफ चार आपराधिक मामले दर्ज थे। इनमें से एक हत्या का भी मामला है। अपराधी पर 5 हजार रुपए का ईनाम घोषित था और वह हत्या, लूट, डकैती, चोरी, आम्र्स एक्ट के साथ कई अन्य गंभीर अपराधों में लिप्त था। बताया जा रहा है कि वह खेतड़ी में एक शराब ठेकेदार की हत्या के मामले में कई महीनों से फरारी काट रहा था। पुलिस मृतक अपराधी के बाकी साथियों की तलाश कर रही है। पुलिस ने मृतक अपराधी का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *