विपक्ष के सवालों के तुरंत जवाब देने वाले गहलोत हुए महिला के आगे मौन, महिला ने पेपर लीक को लेकर मुख्यमंत्री को घरा

जयपुर

जयपुर। सवालों के तुरंत जवाब देकर विपक्ष को मौन कर देने वाले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शनिवार को एक महिला के आगे बुरे फंस गए। इस महिला ने पेपर लीक को लेकर गहलोत को घेर लिया और गहलोत को जवाब देते नहीं बना। अब इसका वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। विपक्ष ने भी इस वीडियो को लेकर सरकार की खिंचाई करने में जुट गए हैं।

वाक्या शनिवार को गंगानगर का है, जबकि मुख्यमंत्री गहलोत डाबला गांव के धार्मिक स्थलों के दर्शनों के लिए राजस्थान प्रभारी के साथ पहुंचे थे। लोगों से मिलने के दौरान एक महिला गहलोत के पास आ गई और उसने पेपर लीक प्रकरण को लेकर गहलोत को आड़े हाथों ले लिया। महिला के सवाल सुनकर गहलोत निरुत्तर हो गए और आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन देकर वहां से रवाना हो गए।

महिला ने गहलोत से कहा कि हम बेटियों को बड़ी मुश्किल से पढ़ाते हैं और पेपर लीक हो जाते हैं। पेपर लीक होने से रोकने की जिम्मेदारी तो आपकी है। एक तरफ आब बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देते हैं, वहीं वहीं दूसरी ओर पेपर लीक हो जाते हैं। आज के समय में बेटियों को पढ़ाना बहुत मुश्किल है और उसपर पेपर लीक हो जाए, तो सारी मेहनत बेकार हो जाती है।

महिला ने कहा कि प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कराने और परीक्षा दिलाने के लिए हम बच्चों को दूर शहरों में भेजते हैं और उसमें भारी खर्चा लगता है। परीक्षा देकर बच्चे बाहर निकलते हैं, तो उन्हें पता चलता है कि पेपर लीक हो गया। ऐसे में बच्चों और हमारे ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ता है। महिला ने पिछले वर्ष हुए पेपर लीक का भी उल्लेख किया।

महिला के सवाल सुनकर मुख्यमंत्री गहलोत निरुत्तर हो गए। उन्होंने महिला को भरोसा दिलाते हुए सिर्फ यही कहा कि पेपर लीक करने वाले बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इसके बाद मुख्यमंत्री गहलोत अपनी गाड़ी में बैठकर वहां से चले गए। ऐसे में कहा जा रहा है कि पेपर लीक प्रकरणों में अब विपक्ष के बाद गहलोत सरकार आमजन से भी घिरती जा रही है। लगातार हो रहे पेपर लीक प्रकरणों से युवाओं के साथ-साथ आम जनता भी अब आगे आकर सरकार को घेरने में लगी है, जिसका खामियाजा आगामी चुनावों में कांग्रेस सरकार को भुगतना पड़ सकता है। इस प्रकरण के बाद भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने अपनी फेसबुक पर वीडियो पोस्ट कर लिखा कि जब तथाकथित जादू का पीडि़त सच से सामना हुआ। डाबला, श्रीगंगानगर में एक मां ने मुख्यमंत्री जी को खरी-खरी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *