जयपुर

सांसद पर तंज कसते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने किया बाड़मेर में 275 करोड़ रूपए के विकास कार्याें का शिलान्यास एवं लोकार्पण

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को बाड़मेर में 275 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना की विषम परिस्थितियों में भी राज्य सरकार ने पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य किया है। प्रदेश की जनता से किए वादे और विकास कार्यों से जुड़ी विधायकों की मांगों को पूरा करने में राज्य सरकार ने पिछले 3 साल में कोई कमी नहीं रखी है।

उन्होंने कहा कि आज जो लोकार्पण हुए हैं, उनका लाभ बाड़मेर जिले की जनता को मिलेगा। साथ ही, जिन कार्यों के शिलान्यास हुए हैं, उन्हें समय पर पूरा करने के प्रयास किये जाएंगे।

पहले किसी ने कल्पना नहीं की थी कि थार के रेगिस्तान में तेल निकलेगा, रिफाइनरी आएगी और पॉवर प्लांट लगेंगे। आज बाड़मेर का काया-कल्प हो गया है। इंदिरा गांधी नहर और नर्मदा का पानी यहां पहुंच गया है। गुढ़ामालानी एवं आसपास के क्षेत्रों में मीठा पानी पहुंचाने की 2900 करोड़ रूपए की परियोजना को शीघ्र शुरू करने के लिए राज्य सरकार संकल्पबद्ध है। इसकी प्रशासनिक स्वीकृति जारी कर दी गई है एवं तकनीकी स्वीकृति भी इस माह के अंत मेें मिल जाएगी।

गहलोत ने कहा कि सरकारें बदलने पर विकास कार्य बंद नहीं होने चाहिए। हमारी सरकार ने कभी भी पूर्ववर्ती सरकार के विकास कार्यों को नहीं रोका। राज्य सरकार प्रदेश के विकास के लिए कंधे से कंधा मिलाकर केन्द्र सरकार का सहयोग करेगी। उन्होंने बाड़मेर में रिफाइनरी के कार्य में केन्द्र सरकार से अपेक्षित सहयोग की अपील की। डेजर्ट पार्क के मुद्दे एवं गोडावण संरक्षण क्षेत्र में सोलर पॉवर प्लांट लगने में आ रही कठिनाइयों के संबंध में केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री को राज्य का पक्ष मजबूती से रखने का आग्रह किया। बाड़मेर में बाजरा अनुसंधान के केन्द्र खोलने की स्वीकृति देने के लिए केन्द्र का आभार जताया। ऑर्गेनिक खेती को बढ़ावा देने के साथ ही प्रदेश के किसानों के हित में सभी जरूरी कदम उठाने का भरोसा दिलाया। साथ ही, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बाजरे की खरीद की संभावनाओं का अध्ययन कराने की बात कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2006 में बाड़मेर में आई भीषण बाढ़ के दौरान बेघर हुए विस्थापितों का 15 साल का इंतजार खत्म करते हुए राज्य सरकार ने 1022 परिवारों को निःशुल्क पट्टे दिये हैं। कार्यक्रम के दौरान प्रशासन गांवों के संग अभियान के तहत ग्राम पंचायत बाड़मेर मगरा द्वारा 1022 परिवारों को जारी आवासीय पट्टों में से 11 लोगों को बाड़मेर में प्रभारी मंत्री श्री सुखराम विश्नोई द्वारा पट्टे वितरित किए गए।

इस दौरान गहलोत ने भाजपा सांसद कैलाश चौधरी पर तंज कसते हुए कहा कि जब 15 साल पहले बाढ़ के समय हमारी राष्ट्रीय अध्यक्ष् सोनिया गांधी राजस्थान के दौरे पर आई थी, उस वक्त आपने जिस तरह से उनका विरोध किया था, उसी के चलते आपने राजनीति में बड़ी छलांग लगाई है। आपका कद बढ़ा और आप केंद्र में मंत्री बने। हमारी आपसे एक ही मांग है कि जो बिल हमने पास करके भेजा है, उसे पास कराइये, ताकि किसानों को नीलामी से मुक्ति मिल सके।

Related posts

राजस्थान में डेढ़ महीने पहले हुआ था ई-श्रम पोर्टल का शुभारंभ, पोर्टल से असंगठित श्रमिकों के 10 लाख से ज्यादा ई-श्रम कार्ड हुए जारी

admin

जयपुर चौपाटियों पर खास अंदाज में मनाया जाएगा गणतंत्र दिवस

admin

उच्च शिक्षा के क्षेत्र में नये हब के रूप में विकसित हो रहा है राजस्थानः राजेंद्र यादव, उच्च शिक्षा राज्य मंत्री,

Clearnews