75vaan svaadheenata divas (Independence Day): laal kile (lal quila) kee praacheer se 8veen baar peeem modee (PM Modi) phaharaenge raashtr dhvaj (National flag) aur karenge raashtr ko sambodhit

75वां स्वाधीनता दिवस (Independence Day) : लाल किले (Lal Quila) की प्राचीर से 8वीं बार पीएम मोदी (PM Modi) फहराएंगे राष्ट्र ध्वज (National Flag) और करेंगे राष्ट्र को संबोधित

जयपुर ताज़ा समाचार

भारत विदेशी शासन से स्वतंत्रता प्राप्ति के 75वें वर्ष यानी स्वाधीनता दिवस (Independence Day) पर ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ मना रहा है। इस महत्वपूर्ण अवसर पर भारत सरकार के विभिन्न मंत्रालयों, विभिन्न राज्य सरकारों तथा केंद्र शासित प्रदेशों, सशस्त्र बलों और आम जनता द्वारा देश भर में अनेक कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) 15 अगस्त, 2021 को नई दिल्ली में लाल किले (Lal Quila) की प्राचीर से इस ऐतिहासिक 75वें स्वतंत्रता दिवस को मनाने में राष्ट्र की अगुवाई करेंगे। वे 8वीं बार राष्ट्रीय ध्वज (National Flag) फहराएंगे और पारंपरिक रूप से राष्ट्र को संबोधित करेंगे।

देश भर में स्वतंत्रता दिवस को भव्य और दिव्य रूप से मनाने की तैयारियां ज़ोर शोर से चल रही हैं। सुरक्षा के मद्देनज़र पूरी दिल्‍ली को अलर्ट पर रखा गया है। देश के तमाम अन्‍य शहरों में भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री ने भारत की स्वतंत्रता का 75वां वर्ष मनाने के लिए मार्च 2021 में गुजरात के अहमदाबाद के साबरमती आश्रम से ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ शुरू किया था। यह समारोह 15 अगस्त, 2023 तक जारी रहेगा।

प्रधानमंत्री करेंगे सलामी गारद का निरीक्षण

लाल किले पर प्रधानमंत्री के आगमन पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट और रक्षा सचिव डॉ. अजय कुमार उनकी अगवानी करेंगे। रक्षा सचिव, दिल्ली क्षेत्र के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी), लेफ्टिनेंट जनरल विजय कुमार मिश्रा, एवीएसएम का प्रधानमंत्री से परिचय कराएंगे। इसके बाद दिल्ली क्षेत्र के जीओसी नरेन्द्र मोदी को सैल्यूटिंग बेस तक ले जाएंगे, जहां एक संयुक्त इंटर-सर्विसेज और दिल्ली पुलिस गार्ड प्रधानमंत्री को सामान्य सलामी देंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री सलामी गारद का निरीक्षण करेंगे।

सलामी गारद में थल, जल, वायु सेना और दिल्ली पुलिस के एक-एक अधिकारी

पीएम के लिए सलामी गारद दल में थल सेना, नौसेना, वायु सेना और दिल्ली पुलिस प्रत्येक में से एक-एक अधिकारी और 20 जवान शामिल होंगे। भारतीय नौसेना इस वर्ष समन्वयनकारी सेना है। सलामी गारद की कमान कमांडर पीयूष गौड़ संभालेंगे। प्रधानमंत्री के गार्ड में नौसेना दल की कमान लेफ्टिनेंट कमांडर सुने फोगट, सेना की टुकड़ी की कमान मेजर विकास सांगवान और वायु सेना की टुकड़ी की कमान स्क्वाड्रन लीडर ए.बेरवाल संभालेंगे। दिल्ली पुलिस दल की कमान अतिरिक्त डीसीपी (पश्चिम जिला) सुबोध कुमार गोस्वामी संभालेंगे।

सलामी गारद के बाद लाल किले की प्राचीर की ओर

सलामी गारद के निरीक्षण के बाद, प्रधानमंत्री मोदी लाल किले की प्राचीर के लिए रवाना होंगे, जहां उनका स्वागत रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, थल सेनाध्यक्ष जनरल एमएम नरवणे, नौसेनाध्यक्ष एडमिरल करमबीर सिंह और वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया द्वारा किया जाएगा। दिल्ली क्षेत्र के जीओसी राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रधानमंत्री को प्राचीर स्थित मंच पर ले जाएंगे।

तिरंगे को राष्ट्रीय सलामी

ध्वज फहराने के बाद तिरंगे को ‘राष्ट्रीय सलामी’ दी जाएगी। नौसेना बैंड जिसमें 16 लोग शामिल होंगे, राष्ट्रीय ध्वज फहराने और ‘राष्ट्रीय सलामी’ के दौरान राष्ट्रगान बजाएंगे। बैंड का संचालन एमसीपीओ विंसेंट जॉनसन द्वारा किया जाएगा।

लेफ्टिनेंट कमांडर पी.प्रियंबदा साहू राष्ट्रीय ध्वज फहराने में प्रधानमंत्री की सहायता करेंगे। इसे इलीट 2233 फील्ड बैटरी (औपचारिक) के बहादुर गनर्स द्वारा दागे गए 21 तोपों की सलामी के साथ सिंक्रोनाइज़ किया जाएगा। सेरेमोनियल बैटरी की कमान लेफ्टिनेंट कर्नल जितेंद्र सिंह मेहता, एसएम के पास है और गन पोजीशन ऑफिसर नायब सूबेदार (एआईजी) अनिल चंद होंगे।

राष्ट्रीय ध्वज गार्ड जिसमें सेना, नौसेना, वायु सेना और दिल्ली पुलिस के पांच अधिकारी और 130 जवान शामिल हैं, प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराने के समय राष्ट्रीय सलामी देंगे। भारतीय नौसेना के कमांडर कुलदीप एम.नेरालकर इंटर-सर्विसेज गार्ड और पुलिस गार्ड की कमान संभालेंगे।

राष्ट्रीय ध्वज गार्ड में नौसेना की टुकड़ी की कमान लेफ्टिनेंट कमांडर प्रवीण सारस्वत, सेना की टुकड़ी की कमान मेजर अंशुल कुमार और वायुसेना की टुकड़ी की कमान स्क्वाड्रन लीडर रोहित मलिक संभालेंगे। दिल्ली पुलिस दल की कमान अतिरिक्त डीसीपी (दक्षिण पश्चिम जिला) अमित गोयल संभालेंगे।

ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चौपड़ा सहित 32 पदक विजेता आमंत्रित

भाला फेंकने वाले सूबेदार, ट्रैक और फील्ड में भारत के पहले स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा सहित ओलंपिक के बत्तीस विजेताओं के साथ-साथ भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के दो अधिकारियों को लाल किले में समारोह में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है। लगभग 240 ओलंपियन, सहयोगी स्टाफ और साई तथा खेल महासंघ के अधिकारियों को भी प्राचीर के सामने ज्ञान पथ की शोभा बढ़ाने के लिए आमंत्रित किया गया है। टोक्यो में, भारत ने एक स्वर्ण, दो रजत और चार कांस्य पदक सहित कुल सात पदक जीतकर ओलंपिक में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

कोरोना योद्धाओं के लिए अलग ब्लॉक

अदृश्य शत्रु कोविड-19 से लड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कोरोना योद्धाओं के सम्मान में प्राचीर के दक्षिण की ओर एक अलग ब्लॉक का निर्माण किया गया है।

पहली बार अमृत फॉर्मेशन में दो हेलीकॉप्टरों द्वारा होगी कार्यक्रम स्थल पर पुष्प वर्षा

इस वर्ष पहली बार ऐसा होगा कि जैसे ही प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाएगा, अमृत फॉर्मेशन में भारतीय वायु सेना के दो एमआई 17 1V हेलीकॉप्टरों द्वारा कार्यक्रम स्थल पर फूलों की पंखुड़ियों की वर्षा की जाएगी। पहले हेलीकॉप्टर के कप्तान विंग कमांडर बलदेव सिंह बिष्ट होंगे,जबकि दूसरे हेलिकॉप्टर की कमान विंग कमांडर निखिल मेहरोत्रा ​​संभालेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन

फूलों की पंखुड़ियों की वर्षा के बाद प्रधानमंत्री राष्ट्र को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री के भाषण के समापन पर राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) के कैडेट राष्ट्रगान गाएंगे। राष्ट्रीय उल्लास के इस पर्व में विभिन्न स्कूलों के पांच सौ (500) एनसीसी कैडेट (सेना, नौसेना और वायु सेना) हिस्सा लेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *