After Sachin Pilot's meeting with Rahul Gandhi, political speculation intensified in Rajasthan, less chance of leadership change

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से सचिन पायलट (Sachin Pilot) की मुलाकात के बाद राजस्थान (Rajasthan) में सियासी अटकलबाजियां तेज, नेतृत्व परिवर्तन (leadership change)की संभावना कम

जयपुर

जयपुर। पंजाब का विवाद सुलझने के बाद अब राजस्थान (Rajasthan) को लेकर सियासी अटकलबाजियां तेज हो गई है। कहा जा रहा है कि कांग्रेस आलाकमान अब राजस्थान में चल रहे विवाद की तरफ नजर कर सकते हैं, लेकिन राजस्थान में मंत्रिमंडल में फेरबदल हो सकता है, नेतृत्व परिवर्तन (leadership change) की संभावनाएं दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रही है।

जानकारी के अनुसार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच 17 सितंबर को दिल्ली में राहुल गांधी के आवास पर बैठक हुई, जिसमें दोनों के बीच राजस्थान के मसलों को लेकर चर्चा हुई है। बताया जा रहा है कि बीते साल आए सियासी संकट के बाद राहुल गांधी और सचिन पायलट के बीच यह पहली मुलाकात थी।

हालांकि दोनों के बीच हुई बातचीत का ब्यौरा सामने नहीं आ पाया, लेकिन माना जा रहा है कि राजनीतिक नियुक्तियों और मंत्रिमंडल फेरबदल विस्तार को लेकर चर्चा हुई है। इससे पहले राहुल गांधी ने दिल्ली में 15 सितंबर को राजस्थान महिला कांग्रेस की अध्यक्ष रेहाना रियाज से भी फीडबैक लिया था। हालांकि सूत्रों का कहना है कि राजस्थान में नेतृत्व परिवर्तन की संभावना नगण्य है, क्योंकि राजस्थान और पंजाब की राजनीतिक परिस्थितियां एक दूसरे से एकदम जुदा हैं। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास विधायकों का पूरा बहुमत है, ऐसे में गहलोत बिलकुल दबाव में दिखाई नहीं दे रहे हैं।

कहा जा रहा है कि नवरात्र के दौरान प्रदेश में मंत्रिमंडल में फेरबदल हो सकता है। वहीं राजनीतिक नियुक्तियां भी की जा सकती है। मंत्रिमंडल फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियों की सूचियां दिल्ली पहुंच चुकी है, लेकिन इनपर अंतिम निर्णय होना अभी बाकी है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *