अलवरक्राइम

अलवर हनीट्रैप: सिर्फ पुलिसवालों को ही बनाती थी वो अपना शिकार,जानिए क्या है पूरा मामला

जब दूसरों को फंसने से बचाने वाला खुद ही जाल में उलझ जाये तो उसे कोई कैसे बचाएगा…? कुछ इसी तरह की परिस्थियाँ देखने को मिल रही हैं राजस्थान के पुलिसकर्मियों के साथ, जिसमे वे शिकार हुए ऐसे महिला के हाथों जो करती थी सिर्फ पुलिस वालों का ही शिकार ! जी हाँ हम बात कर रहे हैं अलवर में हनी ट्रैप का मामले की जो अब लाखों से करोड़ों में पहुंच चुका है। रोज़ इस मामले में कई बड़े खुलासे हो रहे हैं। अभी तक की जांच पड़ताल के बाद महिला के पास कई अहम दस्तावेज मिले हैं। जिनसे साफ है कि पूरे प्रोफेशनल तरह से महिला पुलिस कर्मियों को ब्लैकमेल करती थी और इस काम में कुछ पुलिस वाले ही उसका साथ देते थे। पुलिस कर्मी को ब्लैकमेल करने से पहले गैंग के सदस्य पूरा होमवर्क करते और उसके बाद प्लान बनाकर पुलिस कर्मियों को अपने जाल में फंसाते थे। पुलिस के सामने एक और पुलिसकर्मी पेश हुआ है। जो अभी जयपुर में तैनात है और अलवर का रहने वाला है। महिला ने उससे भी लाखों रुपए ठगे हैं। अलवर पुलिस इस महिला से जुड़े और मामले भी तलाश रही है।
भरतपुर के कुम्हेर थाना अधिकारी महेंद्र कुमार और जयपुर जिले के जोबनेर थाने के कांस्टेबल रोहिताश को हनी ट्रैप में फंसा कर करीब एक करोड़ से ज्यादा रुपए वसूलने वाली महिला व उसके गैंग के 8 लोगों को अलवर पुलिस अब तक गिरफ्तार कर चुकी है। अभी तक की जांच पड़ताल में कई बड़े खुलासे हुए हैं। पुलिस को मिल रही जानकारी के बाद खुद पुलिस के भी होश उड़ गए। जांच पड़ताल के दौरान पता चला है कि पुलिस कर्मियों की मदद से महिला केवल पुलिस कर्मियों को ही अपना शिकार बनती थी। कुछ पुलिसकर्मियों को पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। महिला के घर व अन्य जगहों पर दबिश देने के बाद पुलिस को कई अहम सुराग मिले हैं।
अलवर पुलिस की अपील
अलवर एसपी आनंद शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार महिला के गैंग में सदस्यों की संख्या बढ़ रही है। अभी तक की पूछताछ व पड़ताल के दौरान कई अहम जानकारियां हाथ लगी है। महिला प्रोफेशनल तरीके से पुलिस कर्मियों को अपना शिकार बनती थी। अलवर पुलिस ने अन्य लोगों से भी अपील की है इस महिला से पीड़ित लोग थाने पहुंचें और एफआईआर दर्ज करवाए। एसपी ने कहा कि अलवर के रहने वाला एक पुलिसकर्मी जो अभी जयपुर में पोस्टेड है व उसका परिवार भी जयपुर शिफ्ट हो चुका है। उसको भी महिला ने ब्लैकमेल किया व उससे भी पैसे लिए थे। उसे मामले की भी जांच पड़ताल चल रही है। इसके अलावा महिला से जुड़े हुए अन्य मामले की फाइलों को भी देखा जा रहा है।
पहले भी कई मामले दर्ज करा चुकी है महिला
पुलिस ने बताया कि अब तक इस मामले में तीन महिला सहित करीब आठ लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। महिला ने पहले भी अलग-अलग थानों में करीब 7 से ज्यादा मुकदमे दर्ज करवाए हैं। महिला ने अपने पति से तलाक लिया और उसके बाद उसके खिलाफ भी एफआईआर दर्ज करवाई। पुलिस जांच पड़ताल में सामने आया है कि पुलिस कर्मियों के संरक्षण के कारण यह महिला का खेल चल रहा था। कुछ पुलिस कर्मियों से भी पूछताछ की जा रही है।
केवल पुलिस कर्मियों को ही अपना शिकार बना रही थी महिला
अब तक की जांच पड़ताल में सामने आया है कि महिला केवल पुलिस कर्मियों को ही अपना शिकार बना रही थी। दरअसल उसके साथ उसके गैंग में कुछ पुलिसकर्मी भी जुड़े हुए थे। वो लोग अपने विभाग के पुलिसकर्मियों की जानकारी महिला को देते और उसके बाद गैंग के सभी सदस्य मिलकर योजना बनाते और पुलिस कर्मियों को हनी ट्रैप में फंसा कर ब्लैकमेल करते थे।
क्या था मामला
अलवर के अरावली विहार थाने में 6 जनवरी को सीआई और कांस्टेबल ने दो एफआईआर दर्ज करवाई कि अलवर की एक महिला से 2022 में उनकी मुलाकात हुई। परिवार के बच्चों को गाइड करने और नया मकान खरीदने के मामले में सलाह देने के नाम पर महिला ने पुलिसकर्मियों को जयपुर से अलवर बुलाया और यहां आने पर नशीला पदार्थ खिलाकर उनके अश्लील फोटो और वीडियो बना लिए। उसके बाद महिला पुलिस कर्मियों को ब्लैकमेल करने लगी। महिला अभी तक पुलिसकर्मियों से करीब एक करोड़ रुपए वसूल चुकी है। पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज करके जांच पड़ताल की तो पुलिस के भी होश उड़ गए।

Related posts

कोटा में पाक के लिए जासूसी करने वाला पकड़ा

admin

कोरोना के साथ बाढ़ और जलभराव के लिए भी तैयारी होगी

admin

अब किराए पर लो खेती के उपकरण

admin