दिल्लीराजनीति

त्साई इंग-वेन के अमेरिका दौरे से चढ़ीं चीन की त्योरियां … ताइवान को चौतरफा घेरते हुए सैन्य अभ्यास में उड़ाए 42 फाइटर जेट

ताइवान के किसी भी अन्य देश के साथ किसी भी आधिकारिक संवाद को लेकर हमेशा ही चीन की त्योरियां  चढ़ जाती हैं। लेकिन, इस बार ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन के अमेरिका के दौरे से तो चीन बुरी तरह से बौखला गया है। इसी बौखलाहट के मारे उसने ताइवान को चौतरफा घेरते हुए सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया है।

बीते दिनों ताइवान की राष्ट्रपति अमेरिका के दौरे पर थीं। चीन ने न सिर्फ उनकी इस यात्रा की कड़ी निंदा की बल्कि ताइवान के पास सैन्य अभ्यास भी शुरू कर दिया है। चीन ने शनिवार को ‘युद्ध की तैयारी’ के लिए ताइवान जलडमरूमध्य में ‘यूनाइटेड शार्प स्वॉर्ड’ नामक तीन दिवसीय सैन्य अभ्यास की घोषणा की। चीन की यह कार्रवाई ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन और यूएस हाउस स्पीकर केविन मैक्कार्थी की कैलिफोर्निया में हुई मुलाकात के बाद आई है। त्साई की अमेरिका यात्रा से चीन बौखलाया हुआ है।
ईस्टर्न थिएटर के प्रवक्ता सीनियर कर्नल शी यी ने पीएलए के एक बयान में कहा, ‘यूनाइटेड शार्प स्वॉर्ड में ताइवान स्ट्रेट में, ताइवान के उत्तर और दक्षिण में, समुद्र में और ताइवान के पूर्वी हवाई क्षेत्र में पुलिस गश्ती अभ्यास शामिल होगा।’ हालांकि अभ्यास का सटीक स्थान ज्ञात नहीं है। इस बीच ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि उसने द्वीप के चारों ओर तीन युद्धपोतों और 13 चीनी विमानों का पता लगाया है। ताइवान पहले भी कई बार चीन की ओर से इस तरह के सैन्य अभ्यास और खतरों का सामना कर चुका है। ताइपे ने ताइवान जलडमरूमध्य के ऊपर 42 चीनी युद्धक विमानों का दावा किया है।
ताइवान के हवाई क्षेत्र में घुसे चीनी विमान
ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि शनिवार को स्थानीय समयानुसार सुबह 6 बजे तीन जहाजों और 13 विमानों को ताइवान के आसपास देखा गया। देखे गए विमानों में से 4 ने ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार किया और ताइवान के दक्षिण-पूर्व इलाके में प्रवेश किया। मंत्रालय ने कहा कि चीनी सैन्य अभ्यास से क्षेत्रीय ‘स्थिरता और सुरक्षा’ को खतरा है।
‘ताइवान पर समझौता ख्याली पुलाव’
इससे पहले चीन ने मैक्कार्थी और त्साई इंग-वेन की मुलाकात के विरोध में ‘रोनाल्ड रीगन प्रेसिडेंशियल लाइब्रेरी’ और अन्य अमेरिकी और एशिया आधारित संस्थानों पर प्रतिबंध लगा दिया। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग कह चुके हैं कि यह एक ‘ख्याली पुलाव’ है कि बीजिंग ताइवान को लेकर अपने रुख में समझौता करेगा। चीन के कड़े विरोध के बावजूद मैक्कार्थी के साथ त्साई की बैठक गुरुवार को हुई थी। कैलिफोर्निया की सिमि वैली में ‘रोनाल्ड रीगन प्रेसिडेंशियल लाइब्रेरी’ उच्च-स्तरीय बैठक का स्थल है।

Related posts

पूरी दिल्ली में सुंदरकांड, बीजेपी की काट या कुछ और…!

Clearnews

राज्यसभा चुनावों के लिए कांग्रेसी विधायकों की बाड़ाबंदी

admin

अब नहीं कटेगा न्यूनतम राशि या निष्क्रिय खातों को सक्रिय करने पर कोई शुल्क, RBI की बड़ी घोषणा

Clearnews