england australia match

इंगलैंड-अस्ट्रेलिया वनडे पर करोड़ों का सट्टा, अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क का खुलासा

जयपुर

जयपुर। पुलिस कमिश्नरेट ने इंगलैंड-आस्ट्रेलिया वनडे मैच पर करोड़ों रुपए के सट्टा पकड़कर क्रिकेट सट्टे के अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क का खुलासा किया है। पुलिस ने मैच की खाईवाली कर रहे नौ आरोपियों को हिरासत में लेकर 37 लाख से अधिक की नकदी बरामद की और 7 करोड़ से अधिक का हिसाब पकड़ा है।

जयपुर पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि कमिश्नरेट स्पेशल टीम के सहायक उप निरीक्षक को प्रताप नगर में इंगलैंड-आस्ट्रेलिया वनडे मैच ऑनलाइन खाईवाली की सूचना मिली थी। इस सूचना पर जांच की गई और खबर को पुख्ता किया गया। इसके बाद स्पेशल टीम ने प्रताप नगर के मकान नंबर 103/64, सेक्टर 10 में दबिश दी।

पुलिस ने मौके पर क्रिकेट सट्टे के क्षेत्र में कुख्यात डायमंड एक्सचेंज की वेबसाइट से डाटा चोरी कर सट्टे की खाईवाली पकड़ी और खाईवाली करते हुए नौ आरोपियों अंकित जैन, प्रदीप जैन, योगेश जैन, मनीष बेदी, नितिन कुमार जैन, अतुल मंगल, शुभम जैन, रवि कुमार जैन और आशीष जैन को हिरासत में ले लिया।

WhatsApp Image 2020 09 14 at 6.50.37 PM

यह हुआ बरामद

पुलिस ने मकान से 37 लाख 50 हजार की नकदी, 7 करोड़ रुपए से अधिक का सट्टे का हिसाब, 3 मोटरसाइकिल, 4 स्कूटी, 1 एक्सयूवी कार, ऑनलाइन सट्टे के उपकरण, 2 लैपटॉप, 13 मोबाइल, चार्जर, वाईफाई, 1 हार्डडिस्क, 3 एलईडी व अन्य उपकरण बरामद किए।

इस तरीके से हो रही थी खाईवाली

पुलिस ने बताया कि क्रिकेट सट्टे की कुख्यात कंपनी डायमंड एक्सचेंज की वेबसाइट से तकनीकी माध्यम से डाटा चोरी कर स्वयं की विकसित वेबसाइट के जरिए गुजरात और दुबई में बैठे सट्टा किंग के इशारों पर वनडे मैच पर सट्टा लगाया जा रहा था।

WhatsApp Image 2020 09 14 at 6.50.38 PM

बीटेक निकले मास्टरमाइंड

इस पूरी वारदात के मास्टरमाइंड अंकित जैन और नितिन जैन बीटेक मैकेनिकल डिग्रीधारी हैं, जो अहमदाबाद निवासी राजेश भाई उफ सिकंदर, उसके लड़के मयूर भाई, सुरेश भाई के निर्देश पर जयपुर में खाईवाली कर रहे थे। अंकित एक आईटी कंपनी में काम करता है, साथ ही वह वेबसाइट भी बनाता है। नितिन जैन भी अंकित के साथ मिलकर ऑनलाइन गेम बनाने का काम करता है। पकड़े गए सभी आरोपी अजमेर, टोंक, भीलवाड़ा के निवासी हैं और उन्होंने प्रताप नगर में किराए पर मकान ले रखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *