जयपुरताज़ा समाचार

राजस्थान के हर व्यक्ति को इलाज, जांच और दवा निःशुल्क उपलब्धः चिकित्सा मंत्री मीणा

राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री प्रसादी लाल मीणा ने शनिवार, 14 मई को सातवीं भगवान महावीर कॉन्फ्रेंस (बीएमकॉन-7) में चर्चा के लिए शामिल हुए देश-विदेश के 250 से ज्यादा प्रख्यात कैंसर चिकित्सकों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें गर्व है कि हमारा प्रदेश राजस्थान पूूरे देश में ऎसा एकमात्र राज्य है जहां हर व्यक्ति को इलाज, जांच और दवा पूरी तरह निःशुल्क उपलब्ध है।

कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए चिकित्सा मंत्री ने कहा कि कैंसर की बीमारी ऎसी बीमारी है जिसका प्राथमिक स्तर पर आम आदमी को पता नहीं चलता और जब पता चलता है तो वह तीसरी स्टेज में पहुंच चुका होता है और उसका इलाज बहुत मंहगा होता है। इसी को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हर जिले के लिए कैंसर वैन चलाने की घोषणा इस बजट में की है। यह वैन दूर-दराज के ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर लोगों की जांच करेगी। इसके माध्यम से प्राथमिक स्तर पर ही कैंसर की पहचान कर रोगियों को समयबद्ध एवं सुचारू इलाज दिलवाया जा सकेगा।

चिरंजीवी बनी आमजन के लिए संजीवनी

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री गहलोत का सपना है कि प्रदेश का कोई भी व्यक्ति इलाज से वंचित नहीं रहे और प्रदेश का हर व्यक्ति स्वस्थ रहे। इसके लिए चिरंजीवी और मुख्यमंत्री निःशुल्क निरोगी राजस्थान योजना शुरू की गई है। चिरंजीवी योजना से लगभग 13 लाख से ज्यादा लोग अब तक लाभान्वित हो चुके है और उनके इलाज पर लगभग 1400 करोड़ रूपये से ज्यादा की राशि खर्च की जा चुकी है। लोग योजना के तहत बड़े-बड़े सरकारी और निजी अस्पतालों में निःशुल्क (कैशलेस) इलाज का लाभ ले रहे है। सही मायने में यह योजना लोगों के लिए संजीवनी साबित हो रही है। वही निःशुल्क निरोगी राजस्थान योजना से प्रदेश के सभी राजकीय संस्थानों में सभी प्रकार की आईपीडी एवं ओपीडी सेवाएं आमजन के लिए निःशुल्क उपलब्ध करवाई जा रही है।

मीणा ने कहा कि भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल का नाम पूरे देश में सम्मान से लिया जाता है। यहां देश-विदेश के प्रख्यात चिकित्सक चर्चा के लिए शामिल हुए है इसके बेहतरीन परिणाम आयेंगे और आमजन को नई तकनीक के साथ है कैंसर का इलाज उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि यही परमोधर्म है कि कोई भी व्यक्ति पैसे के अभाव में इलाज से वंचित नहीं हो।

अस्पताल के मैनेजिंग ट्रस्टी विमलचन्द्र सुराणा ने कहा कि इस अस्पताल की स्थापना ही इस उद्देश्य के साथ की गई है कि लोगों को सस्ता और उच्च गुणवत्ता का इलाज उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि भगवान महावीर कैंसर चिकित्सालय सरकार की चिरंजीवी योजना के तहत आमजन को कैशलेस इलाज का लाभ दे रहा है।

हड्डियों के कैंसर की जांच और उपचार पर चर्चा

अस्पताल की ओर से हर वर्ष भगवान महावीर कॉन्फेंस का आयोजन किया जाता है। इस वर्ष सातवीं बीएमकॉन का आयोजन आर्थो ऑन्कोलोजी विषय पर किया जा रहा है। जिसमें प्रदेश में पहली बार हड्डियों के कैंसर की नवीनतम जांच एवं उपचार पद्वत्तियों पर विचार-विमर्श के लिए देश-विदेश के 250 से ज्यादा चिकित्सक शामिल हुए है। कॉन्फे्रंस में चर्चा से निष्कर्ष निकलकर आयेंगे उससे हड्डी कैंसर रोगियों को लाभ मिलेगा। इस अवसर पर अस्पताल ट्रस्ट से जुड़े पदाधिकारी एवं प्रख्यात चिकित्सक उपस्थित रहे।

Related posts

5388 सरपंच और 11890 पंच पद के उम्मीदवार मैदान में

admin

बैंकिंग ही नहीं, संपूर्ण व्यवस्था का पर्दाफाश करता हास्य उपन्यास ‘बैंक ऑफ पोलमपुर’

admin

प्रत्याशियों को गहलोत की दो टूक, ‘कोई समस्या हो तो बताएं, पर मुझे रिजल्ट चाहिए..!’

Clearnews