जयपुरधर्म

जयपुर के लक्ष्मीनारायण मंदिर में शुक्रवार को श्रद्धा और उल्लास के साथ मनायी गयी ज्येष्ठ पूर्णिमा

जयपुर को यूं ही छोटा काशी नहीं कहते..यहां विभिन्न भगवानों के मंदिर हैं जहां हर छोटा-बड़ा धार्मिक कार्य पूरे श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाया जाता रहा है। आज शुक्रवार, 21 जून को जयपुर के सूरजपोल गेट के निकट लक्ष्मीनारायण पुरी स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर में ठाकुर जी का सुगंधित द्रव्यो से अभिषेक किया गया। पेय व ऋतु फलों का भोग लगाया गया। श्री त्रीविक्रमाचार्य के सान्निाध्य में 81 कलशों से भगवान का 4 घंटे तक अभिषेक किया गया, जिसके सैकड़ों वैष्णवजन अपने इष्ठमित्रो के साथ साक्षी बने।
लक्ष्मीनारायण मंदिर में आज ज्येष्ट पूर्णिमा के अवसर पर पुरुसूक्त, कनकधारा स्तोत्र, आल्वंदार स्तोत्र का पाठ किया गया। अभिषेक पवित्र नदियों के जल, दूध, दही, शहद, आमरस, केसर जल से किया गया। ठाकुर जी को हल्दी का लेप लगाकर तुलसी की माला पहनाई गई। ठाकुर श्री लक्ष्मीनारायण जी की सहस्त्र नामों से अर्चना की गई।
श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर के पंडित मुकेश ने बताया कि ठाकुर जी का मोगरे के फूलों का श्रृंगार कर आरती की गई। इसके बादअभिषेक की हल्दी और गोष्ठी प्रसाद का वितरण हुआ। इस मौके पर जयपुर के संत-महंत व अन्य भक्तगण उपस्थित रहे।

Related posts

विजयादशमी (Vijayadashmi) पर आरएसएस (RSS) के पारम्परिक पथ संचलन (Path Sanchalan) को अनुमति नहीं देना राजस्थान की कांग्रेस सरकार (Congress Govt) का पूर्वाग्रहः डॉ. अरुण चतुर्वेदी

admin

राजस्थान में एक दिन में 10.45 लाख कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) पर चिकित्सा मंत्री ने सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स (Frontline workers) दी बधाई

admin

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (RBSE) की 12वीं कक्षा की परीक्षाएं भी स्थगित

admin