जयपुरसांस्कृतिक

जयपुर के जवाहर कला केन्द्र में तीन दिवसीय शरद रंग महोत्सव की हुई शुरुआत

अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, शुभ्रा सिंह ने कहा कि डेल्फिक काउंसिल ऑफ राजस्थान कला एवं संस्कृति को राष्ट्रीय एवं अर्न्तराष्ट्रीय स्तर पर पहचान देने का कार्य कर रहा है ताकि राजस्थानी कला एवं संस्कृति मौलिक स्वरूप में बनी रहे। काउंसिल ने कुछ समय में अच्छी पहल कर राजस्थान डेल्फिक खेलों के आयोजन से कला एवं संस्कृति के संरक्षण की दिशा में महत्वपूर्ण कार्य किया है। उन्होंने कहा कि विषम भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद राजस्थान कला एवं संस्कृति के क्षेत्र में विश्व में अपनी एक अलग पहचान रखता है।
शुभ्रा सिंह शुक्रवार को जवाहर कला केन्द्र में तीन दिवसीय शरद रंग महोत्सव के उद््घाटन कार्यक्रम को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि मसूरी में ट्रेनिंग के दौरान यह सिखाया जाता था कि सरकारी सेवा के दौरान अलग-अलग स्थानों पर पदस्थापन के दौरान कार्य की व्यस्तता रहती है, ऐसे में अपनी हॉबी को बनाए रखे। इसके लिए समय जरूर निकालें। उन्होंने कहा कि राजस्थान की संस्कृति जीवन शैली में घुली मिली है और उसे आगे बढ़ाने के लिए डेल्फिक काउंसिल ऑफ राजस्थान युवाओं को बेहतर मंच प्रदान कर रहा है।
प्रमुख शासन सचिव सहकारिता एवं डेल्फिक काउंसिल ऑफ राजस्थान की अध्यक्ष श्रेया गुहा ने काउंसिल का परिचय देते हुए काउंसिल द्वारा किए गए आयोजनों एवं गतिविधियों के बारे में बताया। प्रसिद्ध वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर एवं पीसीसीएफ (प्रशासन) अरिजीत बनर्जी ने इस मौके पर कहा कि डेल्फिक की गतिविधियां रोचक एवं प्रेरणादायी हैं। उन्होंने कहा कि फोटोग्राफी कला एवं विज्ञान का मेल है।
इस मौके पर अतिथियों ने काउंसिल की ई-बुक का लांच किया। काउंसिल के महासचिव एवं निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन जितेन्द्र सोनी ने सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों को धन्यवाद दिया। उतर क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र पटियाला के निदेशक फुरकान खान ने तीन दिवसीय कार्यशाला के बारे में अवगत कराया। इस अवसर पर अतिरिक्त महानिदेशक जवाहर कला केन्द्र प्रियंका जोधावत, उपायुक्त जेडीए शिप्रा शर्मा सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। जवाहर कला केंद्र के रंगायन में 14 अक्टूबर को सायं 7 बजे दिल्ली के प्रसिद्ध नृत्य गुरु और कोरियोग्राफर संतोष नायर की नृत्य नाटिका मिस्टिकल फॉरेस्ट का मंचन होगा।
विद्यार्थियों ने फोटोग्राफी के गुर सीखे
मुबंई के सेलिब्रिटी फोटोग्राफर शिरीष कर्राले ने पहले दिन कार्यशाला में हिस्सा ले रहे विद्यार्थियों एवं नवोदित फोटोग्राफर्स को बेहतरीन फोटोग्राफी के गुर सिखाए। उन्होंने मोबाइल फोटोग्राफी, फोटोग्राफी में लाइट का प्रयोग, आउटडोर फोटोग्राफी में प्राकृृतिक रोशनी,डीएसएलआर कैमरे के विभिन्न फंक्शन, सेलिब्रिटी फोटोग्राफी, नेचर फोटोग्राफी, प्रोडक्ट फोटोग्राफी, ट्रेवल फोटोग्राफी सहित अन्य पहलुओं एवं बारीकियों से अवगत कराया साथ ही फोटोग्राफी के अन्य आयामों पर भी चर्चा करते हुए प्रेक्टिकल सेशन भी लिया।
14 और 15 अक्टूबर के कार्यक्रम
कोरियोग्राफर संतोष नायर की नृत्य नाटिका मिस्टिकल फॉरेस्ट का होगा मंचन
जवाहर कला केंद्र के रंगायन में 14 अक्टूबर को सांय 7 बजे दिल्ली के प्रसिद्ध नृत्य गुरु और कोरियोग्राफर संतोष नायर की नृत्य नाटिका मिस्टिकल फॉरेस्ट का मंचन होगा। ये नृत्य नाटिका वन क्षेत्रों में रहने वाले जनजातीय समुदाय को आधुनिकीकरण के कारण होने वाली परेशानी से दर्शकों को कलात्मक ढंग से रूबरू करवाते हुए ये संदेश देती है कि जीवन में जितनी सादगी और सरलता होगी जीवन उतना ही आनंदमयी होगा ।
मनीषा गुलियानी की कथक प्रस्तुति एवं चेतन जोशी द्वारा बांसुरी वादन
15 अक्टूबर को रंगायन में प्रसिद्ध नृत्यांगना मनीषा गुलियानी की कथक प्रस्तुति और दूसरा कार्यक्रम बांसुरी वादन है जो कि झारखंड के प्रसिद्ध बांसुरी वादक चेतन जोशी द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा । कुछ दिनों पूर्व ही चेतन जोशी के निर्देशन में जी-20 शिखर सम्मेलन में 121 वाद्य यंत्रों की सिंफनी प्रस्तुत की गई थी । 15 अक्टूबर को जयपुर पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसेफ मुख्य अतिथि होंगे ।

Related posts

मुख्यमंत्री गहलोत के बड़े भाई के घर पर ईडी का छापा

admin

पूनिया ने दागा राहुल गांधी पर आठवां सवाल, कहा कब देंगे सस्ती बिजली, किसानों के बकाया कनेक्शन कब होंगे पूरे

admin

दौसा जिले में ईको टूरिज्म बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री ने दी विभिन्न कार्यों के लिए वित्तीय स्वीकृति

admin