आतंकदिल्ली

Operation Ajay: इजराइल से लौटे नागरिकों ने स्वदेश पहुँच कर ली चैन की सांस, सभी ने दिया भारत सरकार को धन्यवाद

Operation Ajay: इजराइल और फलस्तीनी आतंकवादी समूह हमास के बीच लगातार जंग जारी है। इस जंग में सैकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है। जंग के बीच भारत ने इजराइल में फंसे अपने नागरिकों की देशवापसी को लेकर ऑपरेशन अजय शुरू कर दिया है। आपरेशन अजय के तहत 212 भारतीयों को लेकर इजराइल के बेन गुरियन हवाई अडडे से पहली फ्लाइट शुक्रवार सुबह दिल्ली एयरपोर्ट पहुंची ।
सरकार प्रतिबद्ध है हर भारतीय की रक्षा के लिए : केंद्रीय मंत्री राजीव चन्द्रशेखर
इजराइल से भारत लौटे नागरिकों का एयरपोर्ट पर केंद्रीय मंत्री राजीव चन्द्रशेखर ने स्वागत किया। केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि हमारी सरकार किसी भी भारतीय को कभी पीछे नहीं छोड़ेगी। हमारी सरकार, हमारे प्रधानमंत्री उनकी रक्षा करने, उन्हें सुरक्षित घर वापस लाने के लिए प्रतिबद्ध है। हम हमारे बच्चों को सुरक्षित घर वापस लाने के लिए विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर और उनकी टीम के आभारी हैं।
वतन वापसी पर भारतीयों ने पीएम मोदी को बोला धन्यवाद
ऑपरेशन अजय के तहत इज़रायल से भारत लाए गए एक भारतीय नागरिक ने कहा, इज़रायल में युद्ध शुरू होने के बाद हमें भारत से हमारे परिवार और दोस्तों के फोन आने लगे थे, सभी हमारे लिए चिंतित थे। मैं हमारे लिए इस ऑपरेशन के इज़रायल से भारत सुरक्षित लाए जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत के विदेश मंत्रालय का शुक्रिया अदा करता हूं।
नौकरी के चलते परिवार से अलग थी इज़राइल में
इज़राइल से भारत आई सीमा बलसारा ने कहा, मैं एयर इंडिया की ओर से तेल अवीव में एयरपोर्ट मैनेजर के रूप में कार्यरत थी, मैं वहां पर पिछले 10 महीने से थी, वहां से हमें बाहर निकाला गया। पिछले 4-5 दिनों से वहां की स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। हमने उस स्थिति का सामना किया और अब हम यहां हैं। मेरा परिवार भारत में ही रहता है, मैं वहां(तेल अवीव) रह रही थी।
सही टाइम पर इंडिया आ गये,परिवार वाले अब खुश
उत्तर प्रदेश के फतेहपुर निवासी स्वाती पटेल इजराइल में रहती हैं और उनका कहना है कि वो भारत आकर बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा, “हम सही टाइम पर इंडिया आ गये, हम बहुत खुश और सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। हमारे परिवार वाले बहुत डर रहे थे,लेकिन वो अब खुश हैं। हम भारत सरकार को बहुत धन्यवाद देते हैं।”
भारत और इज़राइल की सरकारें बेहद सहयोगी
ऑपरेशन अजय के तहत इज़रायल से भारत लाए गए मनोज कुमार ने कहा, मैं वहां पर बतौर पोस्ट डॉक्टोरल फेलो के रूप में कार्यरत था, मेरा पत्नी और 4 वर्ष की बेटी भी मेरे साथ हैं। तेल अवीव में स्थित भारतीय दूतावास का धन्यवाद करता हूं कि उन्होंने काफी सहयोग किया। इसके साथ ही सुरक्षित रूप से भारत आने के लिए भारत के विदेश मंत्रालय का धन्यवाद करता हूं। इज़रायल की सरकार भी दिन-रात काम कर रही है।
2 साल में कभी ऐसे परिस्थिति नहीं थी
ऑपरेशन अजय के तहत इज़रायल से भारत आई एक महिला ने कहा, मेरा बेटा अभी केवल 5 महीने का है, हम जिस स्थान पर थे वह सुरक्षित था लेकिन आगे की परिस्थिति और अपने बेटे के लिए हमने भारत आने का फैसला लिया। पहली रात हम सो रहे थे तभी एक सायरन बजा, हम वहां पर पिछले 2 वर्ष से थे हमने ऐसी परिस्थिति पहले कभी नहीं देखी थी। हम शेल्टर में गए, हम 2 घंटे के लिए शेल्टर में रहे। हम अब काफी बेहतर महसूस कर रहे हैं, मैं भारत सरकार और प्रधानमंत्री का धन्यवाद करती हूं।
बता दें कि इजराइल के युद्ध के बीच देश छोड़ने के इच्छुक 212 भारतीयों को लेकर पहली चार्टर उड़ान गुरुवार को बेन गुरियन एयरपोर्ट से रवाना हुई थी।

Related posts

वर्ष 2027 तक तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा भारत..!

Clearnews

पाकिस्तानः आतंकी संगठन तहरीक-ए-जिहाद के आत्मघाती हमले में 4 की मौत और 28 बुरी तरह घायल

Clearnews

ओलंपिक की तैयारी: पीएम मोदी ने कहा- 2036 ओलंपिक की मेजबानी की कोशिश में कोई कसर नहीं छोड़ेगा भारत

Clearnews