इसरोबेंगलुरू

के. सिवन पर खुलासा, चंद्रयान-2 फेल होने की वजह… इसरो चीफ सोमनाथ की किताब पर हंगामा !

इसरो प्रमुख एस. सोमनाथ को लेकर मीडिया में कुछ रिपोर्ट्स आईं। इसमें दावा किया गया कि सोमनाथ ने पूर्व इसरो चीफ के. सिवन पर प्रमोशन में रुकावट डालने का आरोप लगाया यानी सिवन ने सोमनाथ के इसरो चीफ बनने में रुकावट डाली थी। ये आरोप सोमनाथ ने अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘निलावु कुडिचा सिम्हंल’ में लगाया है।
इसरो को लेकर 4 नवंबर 2023 को एक हैरान करने वाली खबर आई। ये खबरें दक्षिण भारत के मीडिया संस्थानों में प्रकाशित हुई। जिसमें कहा गया कि इसरो प्रमुख एस. सोमनाथ ने पूर्व इसरो चीफ के. सिवन पर एक आरोप लगाया। सोमनाथ ने कहा कि सिवन ने उनके इसरो प्रमुख बनने में बाधा डाली थी। सिवन नहीं चाहते थे कि सोमनाथ इसरो प्रमुख बनें। यह आरोप सोमनाथ ने अपने जीवन पर आधारित किताब ‘निलावु कुडिचा सिम्हंल’ में लगाया है।
इस बारे में सोमनाथ ने कहा कि हर इंसान को किसी संस्थान में सबसे ऊंचे पद पर जाने के दौरान कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कई चुनौतियों को पार करना होता है। वैसी ही समस्याएं उनके सामने भी आईं। उन्होंने कहा कि मैंने अपने जीवन में आई चुनौतियों के बारे में लिखा है। किसी के ऊपर व्यक्तिगत टिप्पणी नहीं की। वह किसी एक इंसान के खिलाफ नहीं है। किसी भी एक ऊंचे पद के लिए कई लोग उपयुक्त होते हैं। मैं बस इस मुद्दे को उठा रहा था। मैंने किसी भी एक व्यक्ति पर निशाना नहीं साधा है।
इसलिए फेल हुआ चंद्रयान-2
हालांकि सोमनाथ ने यह भी बताया कि चंद्रयान-2 कैसे फेल हुआ था। सोमनाथ ने कहा कि चंद्रयान-2 मिशन जल्दबाजी के चक्कर में फेल हुआ। क्योंकि उसे लेकर जितने टेस्ट होने चाहिए थे, वो नहीं हुए थे। सोमनाथ ने कहा कि उनकी किताब में चंद्रयान-2 के फेल होने की सही वजह है। उसमें उन्होंने लिखा है कि चंद्रयान-2 के फेल होने की घोषणा के समय जो गलतियां हुई थीं, वो छिपाई गई थीं। सोमनाथ ये मानते हैं कि जो जैसा हो रहा है, उसे उसी तरह से बताना चाहिए। सच लोगों के सामने आना चाहिए। इससे संस्थान में पारदर्शिता आती है। इसलिए किताब में चंद्रयान-2 की विफलता का जिक्र किया गया है। ये ऑटोबायोग्राफी लोगों को प्रेरित करने के लिए लिखी है। ताकि लोग अपनी चुनौतियों से लड़ते हुए आगे बढ़ने की प्रेरणा ले सकें। ये किताब किसी की आलोचना के लिए नहीं लिखी गई है। न ही ऐसा कोई इरादा है। ये किताब जल्द ही बाजार में आएगी

Related posts

चांद पर चमचमा रहा है हमारा विक्रम… दिन बना देगी चंद्रयान-3 के ऑर्बिटर की खींची तस्वीरें

Clearnews

डॉ मोहन भागवत ने स्वतंत्रता दिवस पर बेंगलुरु में फहराया तिरंगा..!

Clearnews

ये चारों 140 करोड़ लोगों की उम्मीदों को स्पेस में ले जाने वाली शक्तियां हैं : पीएम मोदी

Clearnews