Korona sankraman ki roktham ke liye prabhari mantriyon ne zilon mein kaman sambhali

कोरोना संक्रमण (corona infection) की रोकथाम के लिए प्रभारी मंत्रियों ने जिलों में संभाली कमान

जयपुर राजनीति

राजस्थान में बढ़ते कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रभारी मंत्रियों ने अपने प्रभार वाले जिलों में कमान संभालनी शुरू कर दी है। शुक्रवार को चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा और कृषि मंत्री लालचंद कटारिया ने अजमेर, प्रताप सिंह खाचरियावास ने उदयपुर और उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बीकानेर में कोरोना संक्रमण की समीक्षा की।

अजमेर जिले के प्रभारी मंत्री लालचंद कटारिया और चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अजमेर जिले में कोरोना महामारी से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की। कटारिया ने कहा कि गांवों में कोरोना का संक्रमण बढना बेहद चिंताजनक है। गांवों में संक्रमण की चेन तोडऩे तथा ग्रामीणों को जागरुक करने के लिए जनजागरण अभियान चलाया जाए।

रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए अब अजमेर के ग्रामीण क्षेत्रों में भी टेस्ट, ट्रैक और आइसोलेट की रणनीति पर पूरा फोकस रहेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा विभाग की मोबाइल वैन के जरिए एंटीजन और आरटीपीसीआर टेस्ट करवाए जाएंगे ताकि पॉजीटिव मरीजों का तुरंत उपचार शुरू किया जा सके। ब्यावर और किशनगढ़ में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए आरएएस अधिकारियों को चिकित्सालयों में तैनात किया जाएगा। हाल ही में राज्य सरकार की ओर से नियुक्त किए गए 209 कम्यूनिटी हैल्थ आफिसर तुरंत जरूरत वाले स्थानों पर लगाए जाएंगे। सभी प्रमुख अस्पतालों में अब ब्लैक फंगस से संबंधित दवाएं भी उपलब्ध रहेंगी।

WhatsApp Image 2021 05 14 at 7.27.10 PM

दूसरी ओर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने उदयपुर में महाराणा भूपाल चिकित्सालय व ईएसआईसी चिकित्सालय का दौरा किया व चिकित्सा व्यवस्थाओं का जायज़ा लिया। खाचरियावास ने वहां भर्ती कोरोना मरीजों से बातचीत की, कुछ मरीजों के अनुभव जाने और उनको कहा कि मन के हारे हार है… मन के जीते जीत …हिम्मत रखें सब ठीक हो जाएंगे।

खाचरियावास ने वहाँ मौजूद अधिकारियों व डाक्टर्ज़ को निर्देश दिए की पैसों के आधार पर किसी भी मरीज का इलाज नहीं रोका जाना चाहिए, यदि पैसों के मोल भाव के आधार पर किसी मरीज ने दम तोड़ा तो सरकार सख्त कार्रवाई करेगी। यह समय युद्ध स्तर पर काम करने का है इसलिए कोई भी अस्पताल इलाज के अभाव में मरीज को बाहर नहीं निकाले। यदि बेड फुल है उसको फस्र्ट ऐड देकर ऑक्सीजन उपलब्ध करवाकर दूसरे अस्पताल के लिए रेफर करें।

1 2

उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बीकानेर जिले के गजनेर और कोलायत में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वहीं कोलायत में उपखण्ड स्तरीय अधिकारियों की बैठक ली तथा कोविड प्रबंधन की समीक्षा की। भाटी ने कहा कि वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना के मामले सामने आ रहे हैं। इसके मद्देनजर विशेष सतर्कता रखना जरूरी है। ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर की अनुपालना सुनिश्चित करवाई जाए। उन्होंने डोर-टू-डोर सर्वे की स्थिति की समीक्षा की तथा कहा कि ग्राम स्तरीय कमेटियों को मुस्तैद करते हुए प्रभावी सर्वे सुनिश्चित किया जाए। सर्वे से कोई भी घर वंचित नहीं रहे तथा सरकार द्वारा निर्धारित मानकों के अनुरूप सभी आवश्यक दवाइयां भी इस दौरान वितरित की जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *