muhana mandi no mask no sabji motorcycle rally

मोटरसाइकिल रैली के जरिये मुहाना सब्जी मंडी में दिया ‘‘मास्क नहीं तो सब्जी नहीं’’ का संदेश

कोरोना कारोबार जयपुर स्वास्थ्य

जयपुर। दुकानों में ‘‘नो मास्क, नो एंट्री’’ की तरह रविवार सुबह मुहाना सब्जी मंडी में ‘‘नो मास्क नो सब्जी’’ जैसे स्लोगन के साथ सब्जी विक्रेताओं एवं ग्राहकों को कोरोना से बचाव के उपाय अपनाने के लिए जागरूक किया गया एवं मास्क एवं सेनेटाइजर वितरित किए गए। रविवार सुबह आमेर एसडीएम लक्ष्मीकांत कटारा एवं सांगानेर एसडीएम घनश्याम शर्मा के नेतृत्व में ‘‘रॉयल बटालियन ऑफ बुलेट्स’’ के दल के सहयोग से स्टेच्यू सर्किल से मुहाना मंडी तक निकाली गई मोटरसाइकिल रैली के जरिए मंडी एवं शहर के कई क्षेत्रों में कोरोना से बचाव का संदेश दिया गया।

रैली का आरम्भ करते हुए कटारा ने कहा कि कोरोना से सावचेत रहना जरूरी है क्योंकि कोरोना से बचाव के उपायों के प्रति लापरवाही के कारण ही जयपुर में यह तेजी से बढ़ा है। इसलिए राज्य सरकार और जिला प्रशासन अलग-अलग माध्यमों से आमजन में जागरूकता के लिए प्रयास कर रहे हैं। उन्होने रॉयल बटालियन ऑफ बुलेट्स के टीम लीडर अमित एवं सभी स्वयंसेवकों के इस ओर किए जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए युवाओं का आह्वान किया कि वे स्वयं कोविड सुरक्षा नियमों की पालना करते हुए अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करें। उन्होने कहा कि कोविड ग्रस्त होने वाले मरीजों के लिए भी जिला प्रशासन 24 घंटे मुस्तैद है। आक्सीजन, बैड एवं अन्य सभी व्यवस्थाएं माकूल हैं। स्वयं जिला कलक्टर अन्तर सिंह नेहरा लगभग प्रतिदिन कोविड अस्पतालों के राउण्ड लेकर व्यवस्थाओं पर नजर बनाए हुए हैं।

सांगानेर एसडीएम घनश्याम शर्मा ने कहा कि कोविड से घबराने की नहीं लेकिन सावचेत रहने की जरूरत है। आरयूएचएस में एक राउण्ड द क्लॉक हैल्पडेस्क काम कर रही है। हॉस्पिटल, बैड्स, समुचित इलाज, दवाइयां, टेस्टिंग सभी पक्षों पर जिला प्रशासन एवं राज्य सरकार हमेशा सतर्क हैं। उन्होंने बताया कि रविवार को जागरूकता के लिए मुहाना मण्डी को इसीलिए चुना गया कि यह एक बड़ी मण्डी है। यहां न केवल स्थानीय ग्राहक और विक्रेता आते हैं बल्कि बाहर से भी बड़ी संख्या में लोगों का आना-जाना होता है। उन्हें ‘‘मास्क नहीं तो, सब्जी नहीं’’ जैसे उपायों के प्रति जागरूक करने ही कोरोना को नियंत्रित किया जा सकता है।

रैली के दौरान रास्ते में बाइक राइडर्स ने ‘‘एक भी गलती पड़े़गी भारी, कोरोना है घातक बीमारी’’, भीड़ में जाने की ऎेसी भी क्या मजबूरी, कोरोना से जीवन को बचाना है जरूरी’’, इससे पहले कि जान पर बन आए, कोरोना से बचाव के उपाय अपनाएं’’ जैसे स्लोगनों के जरिए आमजन को जागरूक किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *