Officer trapped in a disproportionate assets case, hanged himself in RUHS

आय से अधिक संपत्ति मामले में फंसे अधिकारी ने आरयूएचएस में लगाया फंदा

जयपुर

जयपुर। प्रताप नगर थाना इलाके स्थित राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (आरयूएचएस) हॉस्पिटल के कैदी वार्ड में भर्ती आयकर विभाग के एक अधिकारी ने सोमवार तड़के बेडशीट से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। आरयूएचएस में यह वार्ड छठवीं मंजिल पर बना है। वार्ड में फंदा लगाकर आत्महत्या का पता चलने पर पूरे अस्पताल में सनसनी फैल गई।

सोमवार सुबह हॉस्पिटल के सुरक्षा गार्ड ने आयकर अफसर को फंदे पर लटका देखा। इसके बाद आरयूएचएस प्रबंधन को इसकी जानकारी दी। आरयूएचएस प्रशासन ने इसकी सूचना प्रताप नगर थाना पुलिस को दी। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मोर्चरी मे रखवाया है।

थानाधिकारी श्रीमोहन मीणा ने बताया कि मृतक विजय कुमार मंगला (45) श्रीनाथपुरम कोटा के रहने वाला था। करीब चार वर्ष पूर्व सीबीआई ने विजय कुमार मंगला को झालावाड में पेट्रोल पम्प मालिक से पेट्रोल पंप की 2014-15 की आयकर डिमांड नहीं निकालने के एवज में एक लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था।

सीबीआई ने उनके ठिकानों की तलाशी ली तो डेढ़ किलो सोना, अचल संपत्ति के दस्तावेज, 4 बैंक लॉकर, 6 अलग-अलग बैंकों में खातों का पता चला था। इसके अलावा, तलाशी में घर से 24.5 लाख रुपए के नए नोट मिले थे। नोटबंदी के दौरान मंगला ने पुराने नोटों को नए नोटों में तब्दील करवाया था।

इस मामले में कोर्ट ने 22 जनवरी को मंगला को जेल भेजा था। उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर आरयूएचएस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मृतक अस्पताल में छठवीं मंजिल पर कैदियों के लिए बनाए वार्ड में अकेले ही भर्ती था। सोमवार सुबह सिक्यूरिटी गार्ड ने राउंड के दौरान मंगला को वार्ड में अपने बेड पर देखा था। शायद उसके बाद ही उसने आत्महत्या की। मामला न्यायिक हिरासत में मौत से जुड़ा होने पर एसडीएम और अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने घटना की परिजनों को सूचना दे दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *