चुनावदिल्ली

एक राष्ट्र-एक चुनाव की कोशिशें तेज, पूर्व राष्ट्रपति कोविंद बोले, 23 सितंबर को होगी समिति की पहली बैठक

एक राष्ट्र, एक चुनाव’ को लेकर गठित उच्च स्तरीय समिति की पहली मुलाकात 6 सितंबर को दोपहर 3 बजे दिल्ली में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आवास पर हुई थी, जो इस समिति के प्रमुख हैं। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल भी शामिल हुए थे। हालांकि उसे केवल एक ‘शिष्टाचार मुलाकात’ बताया गया था।
देशभर में एक साथ चुनाव कराने पर गौर करने और सिफारिशें करने के लिए उच्च स्तरीय समिति की पहली बैठक 23 सितंबर को होगी। इस समिति के प्रमुख पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को यह जानकारी दी। पूर्व राष्ट्रपति कोविंद शनिवार दोपहर 1 बजे भुवनेश्वर पहुंचे। वह यहां एएसबीएम विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शरीक हुए। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘पहली बैठक 23 सितंबर को होगी।’
केंद्र सरकार ने 2 सितंबर को लोकसभा, राज्य विधानसभाओं, नगर पालिकाओं और पंचायतों के एक साथ चुनाव कराने की संभावना पर गौर करने और सिफारिश करने के लिए 8 सदस्यीय समिति का गठन किया था। यह घटनाक्रम सरकार द्वारा 18 से 22 सितंबर के बीच संसद का विशेष सत्र बुलाए जाने के बीच आया है।
पहली बैठक 6 सितंबर को हुई
इससे पहले ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ को लेकर गठित इस समिति की पहली आधिकारिक बैठक 6 सितंबर को दोपहर 3 बजे दिल्ली में पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के आवास पर हुई थी, जो इस समिति के प्रमुख हैं। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कानून मंत्री अर्जुन राम मेघवाल भी शामिल हुए थे। सूत्रों के हवाले से बताया गया था कि करीब एक घंटे तक चली यह बैठक ‘शिष्टाचार मुलाकात’ थी। इसके साथ आने वाले दिनों में उच्च स्तरीय समिति की पहली बैठक आयोजित करने का प्रयास किया जा रहा है और एक स्थान को अंतिम रूप दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भविष्य में बैठकें हाइब्रिड मोड में भी आयोजित की जा सकती हैं।

Related posts

नाबालिग के साथ हिंसा का मामला सामने आते ही एयरलाइन्स ने आरोपी मियां बीवी को नौकरी से निकाला

Clearnews

पीओके पर कब्जा करने की जरूरत नहीं, खुद ही आ जाएगा…! बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

Clearnews

चक्रवाती तूफान ‘तेज’ के गुजरात से टकराने का खतरा टला: 1600 किमी दूर ओमान की ओर बढ़ा

Clearnews