raajasthaan kee or se raajyapaal kalaraaj mishr (Governor Kalraj Mishra) ne poorv raajyapaal svargeey kalyaan sinh (Ex Governor Late Kalyan Singh) ko shraddhaasuman (homage) arpit kiye, raajy kee mantriparishad ne bhee dee shraddhaanjali

राजस्थान की ओर से राज्यपाल कलराज मिश्र (Governor Kalraj Mishra) ने पूर्व राज्यपाल स्वर्गीय कल्याण सिंह (Ex Governor Late Kalyan Singh) को श्रद्धासुमन (Homage) अर्पित किये, राज्य की मंत्रिपरिषद ने भी दी श्रद्धांजलि

जयपुर

राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र (Governor Kalraj Mishra) ने रविवार, 22 अगस्त  को लखनऊ पहुंच कर प्रदेश के पूर्व राज्यपाल श्री कल्याण सिंह (Ex Governor Late Kalyan Singh) के अंतिम दर्शन कर उन्हें श्रद्धासुमन (Homage) अर्पित किये। सिंह को श्रंद्धाजलि देने के बाद उन्होंने कहा कि वे देश के ऎसे विरले राजनेता थे, जिन्होंने सदैव जन कल्याण के लिए कार्य किया।

राज्यपाल ने कहा कि स्व. कल्याण सिंह का बिछोह भारतीय राजनीति की कभी न भरी जा सकने वाली रिक्तता है। सिंह से जुड़े अपने संस्मरणों को याद करते हुए उन्होंने कहा कि उनसे सदा छोटे भाई सा स्नेह मिला। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री पद पर रहते दृढ़ निर्णय लेने और संकल्पबद्धता के साथ कार्य करने की उनकी शैली को जनता कभी भुला नहीं पायेगी।

राज्य मंत्रिपरिषद ने भी पूर्व राज्यपाल सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया  
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में रविवार को हुई राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक में राजस्थान के पूर्व राज्यपाल एवं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के देहावसान पर गहरा शोक व्यक्त किया गया। मंत्रिपरिषद के सदस्यों ने 2 मिनट का मौन रखकर दिवगंत आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की तथा ईश्वर से उनकी आत्मा की चिर-शांति के लिए प्रार्थना की। बैठक में शोक प्रस्ताव पारित किया गया, जो इस प्रकार है-
‘‘श्री कल्याण सिंह का जन्म 5 जनवरी, 1932 को ग्राम अतरौली, जिला अलीगढ़, उत्तर प्रदेश में हुआ। आपने स्नातक की उपाधि प्राप्त की। आपने 4 सितंबर, 2014 से 8 सितंबर, 2019 तक राजस्थान के राज्यपाल के रूप में पद को सुशोभित किया। आपने 28 जनवरी, 2015 से 12 अगस्त, 2015 तक हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल के रूप में भी अतिरिक्त कार्यभार संभाला। आप 24 जून, 1991 से 8 दिसम्बर, 1992 तक तथा 21 सितम्बर, 1997 से 12 नवम्बर, 1999 तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रहे। आप 2004 से 2014 तक सांसद भी रहे।
आप प्रारंभिक जीवन से ही राष्ट्रीय भावना और देश प्रेम से प्रेरित रहे तथा आरंभ से ही आमजन के हितैषी रहे। आमजन के दर्द को आपने हमेशा अपना दर्द समझा तथा आप आमजन की सेवा के प्रति समर्पण भाव से जुड़े रहे। आपके निधन से सार्वजनिक क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है।
ईश्वर दिवंगत आत्मा को चिर शांति और शोक संतप्त परिवार को इस दुःख की घड़ी में धैर्य एवं साहस प्रदान करे। राजस्थान सरकार श्री कल्याण सिंह के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त करती है।’’
इसकेसाथ ही मंत्रिपरिषद ने यह भी निर्णय लिया कि दिनांक 22 एवं 23 अगस्त, 2021 को राजकीय शोक रहेगा तथा राजकीय शोक की अवधि में सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्रीय ध्वज आधे झुके (हाफ-मास्ट) रहेंगे एवं राजकीय समारोह आयोजित नहीं किये जाएंगे। दिनांक 23 अगस्त, 2021 को पूरे राजस्थान में समस्त राजकीय कार्यालय एवं संस्थान बन्द रहेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *