raajasthaan mein jaivik utpaadon (organic products) kee khareed-bikree (purchase-sale) ke lie raaj kisaan jaivik mobail ep vikasit

राजस्थान में जैविक उत्पादों (Organic Products) की खरीद-बिक्री (Purchase-sale) के लिए ‘राज किसान जैविक’ मोबाइल एप विकसित

जयपुर

राजस्थान में अब लोग जैविक उत्पादों (Organic Products) की खरीद-बिक्री (Purchase-sale) घर बैठे ही आसानी से ऑनलाइन कर सकेंगे। इसके लिए कृषि विभाग ने ‘राज किसान जैविक’ मोबाइल एप विकसित किया है। राज्य के मंत्री लालचंद कटारिया ने बताया कि लोगों के शुद्ध खाने को लेकर ज्यादा सजग होने से बाजार में जैविक उत्पादों की मांग दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है। साथ ही किसानों का रुझान भी ऐसे उत्पाद पैदा करने की ओर बढ़ रहा है। राजस्थान राज्य जैविक प्रमाणीकरण संस्था में 90 जैविक उत्पादक समूह पंजीकृत हैं जिनसे करीब 20 हजार से अधिक किसान जुड़े हुए हैं।

यह किसान जैविक अनाज, जैविक सब्जी, जैविक मसाले तथा जैविक फलों का उत्पादन कर रहे हैं, लेकिन इन्हें अपनी उपज बेचने के लिए खरीददार ढूंढने में कठिनाई आती है। इससे निजात दिलाने के लिए किसान तथा उपभोक्ता को ऑनलाइन मंच उपलब्ध करवाने के लिए राज किसान जैविक मोबाइल एप विकसित किया गया है।

इस एप पर पंजीकरण कराकर उत्पादक और व्यापारी-उपभोक्ता आपस में बातचीत कर उपज की बिक्री और खरीद कर सकते हैं। किसान गूगल प्ले स्टोर से इस एप को डाउनलोड करके अपना पंजीकरण कर सकते हैं और एप पर पंजीकृत खरीददारों से मोलभाव कर अपने उत्पाद बेच सकते हैं। इसमें व्यक्तिगत और समूह के रूप में प्रमाणित दोनों ही प्रकार के किसान अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। इस एप पर अब तक 160 किसानों और 29 खरीददारों का पंजीकरण हो चुका है।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने और खरीद-बिक्री आसान बनाने के लिए सतत प्रयास कर रही है। इसी क्रम में गत दिनों जयपुर में दुर्गापुरा स्थित कृषि प्रबंधन संस्थान से जैविक उत्पाद बिक्री प्रोत्साहन स्थल की शुरुआत की गई थी।

प्रमाणीकरण संस्था से होगा अनुमोदन

कृषि विभाग के आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश ने बताया कि पंजीकरण के बाद जैविक खेती करने वाले किसान को इस मोबाइल एप के माध्यम से प्रमाणीकरण संस्था द्वारा जारी प्रमाण पत्र की फोटो लेनी होगी और उससे संबंधित वैधता विवरण तथा प्रमाणित करने वाली एजेंसी का नाम दर्ज करना होगा। प्रमाण पत्र मोबाइल एप में अपलोड हो जाएगा जिसका अनुमोदन संबंधित प्रमाणीकरण संस्था द्वारा किया जाएगा।

क्रेता-विक्रेता फोन पर कर सकेंगे मोलभाव
आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश ने बताया कि प्रमाणीकरण संस्था के अनुमोदन के बाद किसान इस मोबाइल एप में जैविक कृषि योग्य भूमि का विवरण, फसल का नाम, बिक्री योग्य उपज तथा जैविक फसल का रकबा आदि दर्ज कर सकेंगे। इस मोबाइल एप में यह भी सुविधा दी गई है कि किसान अपनी उपज की बिक्री दर भी इसमें दर्ज कर सकेगा। किसान द्वारा जैविक उपज के बारे में दिया गया समस्त विवरण इस मोबाइल एप में पंजीकृत खरीददारों को दिखने लगेगा जिससे वे विक्रेता किसान को फ ोन पर संपर्क कर सकेंगे। इस तरह से जैविक उपज बेचने वाले किसान तथा उसके खरीददार के बीच आपसी समन्वय और मोलभाव करने के लिए यह बहुत ही अच्छा प्लेटफॉर्म है।


	

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *