क्राइम न्यूज़जयपुर

राजस्थान: आंगनबाड़ी में नौकरी का झांसा देकर 20 औरतों से गैंगरेप

राजस्थान की एक महिला ने दावा किया कि आरोपियों ने यौन उत्पीड़न का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर शेयर करने की धमकी दी। पीड़िताओं को 5 लाख रुपये के लिए ब्लैकमेल किया। यौन उत्पीड़न करने से पहले आरोपियों ने मदद के नाम पर औरतों को खाना खिलाया, जिसमें नशीला पदार्थ मिला हुआ था।
राजस्थान में सिरोही नगर परिषद के सभापति महेंद्र मेवाड़ा और पूर्व नगर परिषद आयुक्त महेंद्र चौधरी के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है। उन पर आंगनवाड़ी में नौकरी दिलाने के नाम पर करीब 20 महिलाओं से सामूहिक दुष्कर्म के मामले में आरोप लगा है। पाली जिले की एक महिला के पुलिस के पास जाने के बाद घटना का खुलासा हुआ। महिला ने आरोप लगाया कि आरोपी ने उसे और लगभग 20 अन्य महिलाओं को नौकरी का लालच दिया था।
पुलिस को बयान देते हुए महिला ने यह भी दावा किया कि आरोपियों ने यौन उत्पीड़न का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर शेयर करने की धमकी दी। पीड़िताओं को 5 लाख रुपये के लिए ब्लैकमेल किया। पीड़िता के अनुसार, वह अन्य महिलाओं के साथ कई महीने पहले आंगनबाड़ी में काम करने के लिए सिरोही गई थी। वहीं, पर दोनों आरोपियों से इनकी मुलाकात हुई। इन्होंने महिलाओं को अपने घर पर रहने की जगह दी और खाना खिलाया।
महिला ने आगे बताया कि जो खाना उन्हें दिया गया उसमें नशीला पदार्थ था, जिसे खाने के बाद उनको सुध नहीं रही और मौका पाकर आरोपियों ने उनका यौन उत्पीड़न किया। होश में आने पर पता चला कि उनके साथ धोखा हुआ है। आरोपियों ने कथित तौर पर महिलाओं को शारीरिक संबंध बनाने के लिए भी मजबूर किया।
पुलिस उपाधीक्षक पारस चौधरी ने बताया कि महिलाओं ने पहले झूठी शिकायत दर्ज कराई थी, हालांकि अब राजस्थान हाई कोर्ट ने आठ महिलाओं की याचिका के बाद मामला दर्ज करने का आदेश दिया है। मामले की जांच जारी है।

Related posts

क्या प्रधानमंत्री (Prime Minister)के संबोधन के कारण फ्लॉप हुआ भाजपा (BJP) का प्रदर्शन, या था कोई दूसरा कारण

admin

संभागों का दौरा करेंगे चांदना, सावंत व मीणा

admin

जातिगत जनगणना को मुद्दा बनाने वाले राहुल गांधी खुद निष्पक्ष नहीं..!

Clearnews