चुनावजयपुर

गहलोत-पायलट को घेरने की रणनीति ! राजे की चली लेकिन करीबियों के टिकट अटके

विधानसभा चुनावों को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने राजस्थान में 58 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी कर दी। इस सूची में आठ मौजूदा विधायकों के टिकट काटे गए हैं। वहीं, जयपुर की हवामहल विधानसभा सीट से कट्टर हिंदू चेहरा मैदान में उतारा गया है। हालांकि जयपुर की किशनपोल, आदर्शनगर और सिविल लाइंस सीट पर उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की गई है।
तीसरी लिस्ट के नामों को शामिल कर लें तो कुल 182 विधानसभा सीटों पर नामों की घोषणा हो चुकी है। अब 18 विधानसभा सीट के लिए प्रत्याशियों की घोषणा बाकी है। इस सूची में एक दिन पहले दिल्ली में भाजपा में शामिल होने वाले नेताओं को भी टिकट दिए हैं। इसमें दर्शन सिंह, सुभाष मील और उदयलाल डांगी शामिल हैं। कांग्रेस से बीजेपी में आए दर्शन सिंह को करौली से और सुभाष मील को खंडेला से टिकट दिया गया है। आरएलपी से बीजेपी में आए उदयलाल डांगी को वल्लभनगर से प्रत्याशी बनाया गया है।
बगावत की सजा, नए चेहरे को मौका
अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोलने के कारण पार्टी से निलंबित पूर्व विधानसभा स्पीकर कैलाश मेघवाल का टिकट काट दिया गया है। उनकी जगह शाहपुरा से नए चेहरे लालाराम बैरवा को टिकट दिया गया है। लम्बे मंथन के बाद इस सूची में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के सामने पार्टी ने उम्मीदवार तय कर दिए हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सीट सरदारपुरा से बीजेपी ने महेंद्र सिंह राठौड़ को टिकट दिया है। महेन्द्र जोधपुर विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष हैं।
कई नामों पर हुई थी चर्चा
इस सीट पर महेन्द्र सिंह राठौड़ के अलावा हाल ही भाजपा में शामिल हुए रविद्र सिंह भाटी, राजेन्द्र गहलोत, नरेन्द्र सिंह कच्छावा और ममता परिवार के नाम पर भी चर्चा हुई थी। सचिन पायलट के सामने टोंक से पूर्व विधायक अजीत मेहता को प्रत्याशी बनाया गया है। अजीत टोंक से पूर्व विधायक रह चुके हैं। इस सीट पर अजीत मेहता के अलावा लक्ष्मी जैन, गणेश माहुर के नाम भी प्रमुखता से चल रहे थे।
कुछ सीटों पर अभी भी पेच अटका
तीसरी सूची में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की सरकार में शामिल रहे विधायकों और मंत्रियों को फिर से मौका दिया गया है। लेकिन कुछ सीटों पर अभी भी पेच अटका हुआ है। सूत्रों के अनुसार केन्द्रीय चुनाव समिति की बैठक में शेष 18 सीटों पर नामों के पैनल पर चर्चा हो गई है लेकिन सहमति नहीं बन पाने कारण सूची जारी नहीं हो सकी है।
देखें पूरी सूची

1. पिलानी (अजा) – राजेश दहिया
2. खेतड़ी – धर्मपाल गुर्जर खेतड़ी
3. सीकर – रतनलाल जलधारी
4. खाण्डेला – सुभाष मील
5. विराटनगर – कुलदीप धनखड़
6. जमवा रामगढ़ (अजजा) – महेन्द्र पाल मीणा
7. हवा महल – बालमुकुन्द आचार्य
8. किशनगढ़बास- रामहेत सिंह यादव
9. बहरोड़ – जसवंत सिंह यादव
10. रामगढ़ – जय आहूजा
11. राजगढ़-लक्ष्मणगढ़ (अजजा) – बन्नाराम मीणा
12. कठूमर (अजा)- रमेश खिंची
13. कामां – नौक्षम चौधरी
14. नदबई -जगत सिंह
15. बयाना (अजा) – बच्चू सिंह बंशीवाल
16. बसेड़ी (अजा) – सुखराम कोली
17. सादुलशहर – गुरवीर सिंह बराड़
18. करणपुर – सुरेन्द्र पाल सिंह
19. सूरतगढ़ – राम प्रताप कासनिया
20. खाजूवाला (अजा) – डॉ. विश्वनाथ मेघवाल
21. कोलायत – पूनम कंवर भाटी
22. सादुलपुर – सुमित्रा पूनिया
23. सरदारपुरा – डॉ. महेंद्र सिंह राठौड़
24. जोधपुर – अतुल भंसाली
25. लूणी – जोगाराम पटेल
26. जैसलमेर – छोटू सिंह भाटी
27. गुढा मालानी – के. के. बिश्नोई
28. भीनमाल – पूराराम चौधरी
29. रानीवाड़ा – नारायण सिंह देवल स
30. वल्लभनगर – उदय लाल डांगी
31. बांसवाड़ा – धन सिंह रावत
32. कपासन – अर्जुन लाल जीनगर
33. बेंगू – डॉ. सुरेश धाकड़
34. भीम – हरि सिंह चैहान
35. शाहपुरा (अजा) – लालाराम बैरवा
36. हिण्डौली – प्रभुलाल सैनी
37. केशवरायपाटन (अजा) – श्रीमती चन्द्रकांता मेघवाल
38. लाडपुरा – कल्पना देवी
39. करौली – दर्शन सिंह गुर्जर
40. महुवा – राजेद्र मीना
41. सिकराय (अजा) – विक्रम बंशीवाल
42. दौसा – शंकर लाल शर्मा
43. गंगापुर – मानसिंह गुर्जर
44. निवाई (अजा) – रामसहाय वर्मा
45. टोंक – अजीत सिंह मेहता
46. लाडनूं – करणी सिंह
47. डीडवाना – जितेन्द्र सिंह जोधा
48. खींवसर – रेवत राम डांगा
49. डेगाना – अजय सिंह किलक
50. मारवाड जंक्शन – केसाराम चौधरी
51. फलौदी – पब्बाराम बिश्नोई
52. लोहावट – गजेन्द्रसिंह खींवसर
53. औसियां – भैराराम चौधरी
54. भोपालगढ़ (अजा) – कंसा मेघवाल
55. रामगंज मंडी (अजा) – मदन दिलावर
56. अंता- कंवर लाल मीणा
57. किशनगंज (अजजा) – ललित मीणा
58. बारां-अटरू(अजा) – सारिका चौधरी

Related posts

शाही लवाजमे के साथ निकलने जा रही है तीज की शाही सवारी

Clearnews

विधायक कागजी का स्पष्टीकरण व आरोप कि वायरल वीडियो भाजपा कार्यकर्ताओं की कारस्तानी

admin

राजस्थान में ऑक्सीजन उपलब्धता की स्थिति बेहतर, टैंकर्स की संख्या 22 से बढ़कर 38 हुई

admin