Rajasthan CM met the children, also took feedback from the villagers on the schemes of the government

बच्चों (children) से मिले राजस्थान के मुख्यमंत्री (Rajasthan CM), सरकार की योजनाओं पर ग्रामीणों (villagers) से भी लिया फीडबैक (feedback)

जयपुर

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री (Rajasthan CM) अशोक गहलोत ने मंगलवार को बाड़ा पदमपुरा से लौटते समय बच्चों (children) से उनकी पढ़ाई के बारे में जानकारी ली। उन्होंने बच्चों से राज्य सरकार द्वारा खोले जा रहे महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल तथा ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार की अन्य योजनाओं के बारे में जानकारी (feedback) ली।

पदमपुरा से लौटते समय एक कोचिंग सेंटर के बाहर कतार में बैठकर मॉडल पेपर हल कर रहे बच्चों को देख मुख्यमंत्री ने काफिला रुकवाया और उनसे आत्मीयता से बातचीत की। गहलोत ने इन बच्चों से उनकी कक्षा, पाठ्यक्रम, पढ़ाई आदि के बारे में जानकारी ली। इस दौरान वहां मौजूद अभिभावकों ने बताया कि विद्यार्थी जीवन की शुरूआत में अंग्रेजी माध्यम से शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाने के कारण कई बार ग्रामीण (villagers) क्षेत्र के बच्चे पिछड़ जाते हैं। पहली बार राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में भी अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोल रही है। सरकार की यह पहल निश्चय ही सराहनीय है। इसका फायदा ग्रामीण बच्चों को होगा।

बाड़ा पदमपुरा तथा शिवदासपुरा में मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से क्षेत्र की समस्याओं, मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना तथा अन्य योजनाओं के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने लोगों को बीमारियों के उपचार के खर्च से चिंतामुक्त करने के लिए चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना प्रारंभ की है। सभी लोग इस योजना में पंजीयन कराएं और जो लोग किसी कारण से इस योजना में अब तक नहीं जुड़ पाए हैं, उन्हें भी इससे जुड़ने के लिए प्रेरित करें।

इस दौरान ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्हें चिरंजीवी योजना के बारे में जानकारी है। निशुल्क उपचार होने के कारण क्षेत्र में करीब-करीब सभी लोग इससे जुड़ चुके हैं। आमजन को इससे इलाज में काफी मदद मिल रही है। लोगों ने कोरोना महामारी के दौरान राज्य सरकार द्वारा किए गए बेहतर प्रबंधन की भी तारीफ की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए लोग मास्क पहनने तथा वैक्सीनेशन में कोई ढ़िलाई नहीं बरतें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.