Rajasthan Roadways ne june 2021 mai 78 lakh passengers ko safar karwaya aur 52.14 crore rupees kamaye

राजस्थान रोड़वेज (Rajasthan Roadways) ने जून 2021 में 78 लाख यात्रियों (Passengers) को सफर करवाया और 52.14 करोड़ रुपये कमाये

कारोबार जयपुर

राजस्थान राज्य में राजस्थान रोडवेज (Rajasthan Roadways) ने 10 जून 2021 से 30 जून 2021 तक 78 लाख यात्रियों (passengers) को सफर करवाया और 52.14 करोड रुपये का राजस्व अर्जित किया। यह राजस्व जून 2020 की तुलना में करीब तीन गुना अधिक है। रोडवेज के अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक राजेश्वर सिंह ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा अनुमति के बाद जून माह के 21 दिनों में 1.69 करोड़ किलोमीटर संचालित कर 78 लाख यात्रियों को बस सेवा उपलब्ध करावायी गयी। इसके लिये सभी मुख्य प्रबन्धकों से विचार-विमर्श के बाद राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुसार ज्यादा से ज्यादा बसें संचालित कर यात्रियों को बस सेवा उपलब्ध कराने के साथ ही अधिक से अधिक राजस्व अर्जित करने के लिये निर्देशित किया गया था।

सिंह ने बताया कि कोराना की दूसरी लहर में 10 जून, 2021 को संचालन शुरू होने के बाद जून माह में औसत 8.08 लाख किलोमीटर प्रतिदिन बसें संचालित की गयीं। और, लगभग 2.50 करोड़ रुपये औसत प्रतिदिन राजस्व अर्जित किया गया। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में राजस्थान रोडवेज द्वारा संचालित बसों को अभी तक जम्मू कश्मीर, उत्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश, हिमाचल एवं महाराष्ट्र सरकारों से अनुमति नहीं मिली है तथा पंजाब, चंडीगढ़ गुजरात में भी पूर्णरूप से बसों का संचालन शुरू नही हो पाया है, फिर भी राजस्थान रोडवेज ने अधिकतम राजस्व अर्जित किया हैं।

उन्होंने बताया कि राजस्थान रोडवेज द्वारा कोरोना संक्रमण से मुक्त रखने के लिए थर्मल स्क्रीनिंग, बसों तथा बस स्टेण्डों का सेनेटाईजेशन एवं स्टाफ को सुरक्षा उपकरण लगातार देते रहने की कार्यवाही लगातार की जा रही है। जिससे यात्री भार में बढ़ोतरी हो रही है तथा सभी मुख्य प्रबन्धकों को रोडवेज की अपनी व अनुबन्धित सभी बसों का संचालन 01 जुलाई से करने के लिये निर्देशित किया गया है।

यहां यह उल्लेखनीय है कि राजस्थान रोडवेज द्वारा कोरोना की पहली लहर के समय 3 जून, 2020 को संचालन शुरू किया गया था। पिछली लहर के दौरान 03 जून से 30 जून तक 28 दिन में 61.77 लाख किलोमीटर संचालित कर 16.36 लाख यात्रियों को सफर करवाकर 18.42 करोड़ रूपये का राजस्व अर्जित किया तथा इस दौरान कुल 5287 बसों से 23198 परिचक्र का संचालन किया गया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *