rhb-banayega-jaipur-or-bhiwadi-mai-2558-naye-house

राजस्थान आवासन मंडल (RHB) बनाएगा जयपुर (Jaipur) और भिवाड़ी (Bhiwadi) में 2558 नए आवास (house)

कारोबार जयपुर


कोचिंग हब के पास बनेंगे 300 स्टूडियो अपार्टमेंट

राजस्थान आवासन मंडल जयपुर और भिवाड़ी में 2558 नए आवासों का निर्माण करेगा। वहीं प्रतापनगर में बन रहे कोचिंग हब के पास 300 स्टूडियो अपार्टमेंट का भी निर्माण कराएगा। आवासन मंडल अध्यक्ष शांति धारीवाल की अध्यक्षता में बुधवार को मंडल मुख्यालय में राजस्थान आवासन मंडल के संचालक मंडल की 247वीं बोर्ड बैठक में यह निर्णय लिया गया।

आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा ने बताया कि मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत जयपुर (Jaipur) में सेक्टर-8 प्रताप नगर में ईडब्लूएस के 177 फ्लैट और एलआईजी के 130 फ्लैट बनेंगे। मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत ही सेक्टर-26 में ईडब्लूएस के 726 और एलआईजी के 620 फ्लैट सहित कुल 1346 फ्लैट बनेंगे। इसी तरह भिवाड़ी (Bhiwadi) के अरावली विहार योजना में मुख्यमंत्री जन आवास योजना के तहत ही 808 फ्लैट बनेंगे। इनमें ईडब्लूएस के 536 और एलाईजी के 272 फ्लैट बनेंगे। उल्लेखनीय है कि जयपुर में बनने वाले फ्लैट जी+12 और भिवाड़ी के फ्लैट जी+3 होंगे।

बनेंगे स्टूडियो अपार्टमेंट

उन्होंने बताया कि जयपुर के प्रताप नगर योजना में बन रहे कोचिंग हब के पास सेक्टर-8 में 300 स्टूडियो अपार्टमेंट बनाए जाएंगे। एक अपार्टमेंट 425 वर्ग फीट में निर्मित होगा। इसकी कीमत 8 लाख 50 हजार रूपये रखी जाएगी। इन अपार्टमेंट के बनने से कोचिंग हब में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को रहने की समस्या का समाधान होगा।

संविदा पर लिए जाएंगे 22 जेईएन

मंडल की वर्तमान में प्रगतिशील 125 से अधिक निर्माण परियोजनाओं के प्रभावी पर्यवेक्षण, उच्च गुणवत्ता, समयबद्ध पूर्णता सुनिश्चित किए जाने और मंडल में अभियंताओं की कमी के मद्देनजर सेवा नियमों के अनुसार 22 जेईएन (सिविल) नई भर्तियों के होने तक अनुबंध पर रखे जाने का निर्णय लिया गया।

वृत्त व खंड कार्यालयों का होगा पुनर्गठन

बैठक में भूमि की अनुपलब्धता, न्यूनतम निर्माण कार्य और कार्मिकों की अत्यधिक कमी को देखते हुए मंडल के वृत्त एवं खंड कार्यालयों का पुर्नगठन किए जाने का निर्णय लिया गया। आवासीय अभियंता, वरिष्ठ लेखाधिकारी, लेखाधिकारी, वरिष्ठ कार्मिक प्रबंधक, सहायक सचिव के 20 पदों पर पदोन्नति के लिए उनके पदोन्नति के निर्धारित अनुभव में 1/3 अवधि की शिथिलता प्रदान करने का निर्णय लिया गया।

शतकीय रहा बुधवार

अरोड़ा ने बताया कि बुधवार नीलामी उत्सव ई-बिड सबमिशन योजना में आवास विक्रय के मामले में यह बुधवार भी शतकीय बुधवार रहा। इस बुधवार को प्रदेश में 116 सम्पत्तियां विक्रय हुई ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *