कूटनीतिवाशिंगटन

‘हमारे पैसे खत्म हो गए…’ यूक्रेन की मदद करने से अमेरिका ने किया इनकार

यूक्रेन-रूस युद्ध को लगभग दो साल होने वाले हैं। इस भयानक युद्ध में हजारों मौतें और लाखों लोग विस्थापित हुए हैं इस बीच अमेरिका ने रूस के खिलाफ जंग लड़ने के लिए यूक्रेन की हर तरह से मदद की है। मगर सोमवार को अमेरिका ने ताजा बयान में यूक्रेन की पीठ से अपना हाथ खींच लिया है।
यूक्रेन-रूस युद्ध को लगभग दो साल होने वाले हैं। इस भयानक युद्ध में हजारों मौतें और लाखों लोग विस्थापित हुए हैं, इस बीच अमेरिका ने रूस के खिलाफ जंग लड़ने के लिए यूक्रेन की हर तरह से मदद की है। मगर, सोमवार को अमेरिका ने ताजा बयान में यूक्रेन की पीठ से अपना हाथ खींच लिया है। व्हाइट हाउस ने बयान जारी करके कहा है कि उसके पास यूक्रेन को रूस खिलाफ जंग लड़ने में मदद करने के लिए पैसे खत्म हो गए हैं।
व्हाइट हाउस की बजट निदेशक शलांडा यंग ने सोमवार को इस बारे में रिपब्लिकन हाउस के अध्यक्ष माइक जॉनसन और अन्य कांग्रेस नेताओं को एक पत्र लिखा है। इस पत्र में चेतावनी दी गई है कि यूक्रेन को रूस के साथ युद्ध लड़ने में मदद करने के लिए अमेरिका के पास समय और धन की कमी हो रही है।
बाइडेन प्रशासन ने संसद से 106 बिलियन डॉलर मांगे
दरअसल, इसी साल अक्टूबर में राष्ट्रपति जो बाइडेन प्रशासन ने यूक्रेन, इजरायल और अमेरिकी बॉर्डर की सुरक्षा के लिए देश की संसद से लगभग 106 बिलियन डॉलर की मांग की थी। अमेरिका में यूक्रेन को युद्ध में फंडिंग देने का मामला राजनीतिक रूप से विवादास्पद हो गया है।
हथियारों की सप्लाई रोकने से रूस जंग जीत सकता है- अमेरिका
शलांडा यंग ने व्हाइट हाउस की तरफ से पत्र जारी करके कहा है कि यूक्रेन की फंडिंग और हथियारों की सप्लाई रोकने से रूस यह जंग जीत सकता है। उन्होंने लिखा, ‘मैं स्पष्ट तौर से बताना चाहती हूं कि इस साल के अंत तक यूक्रेन को देने के लिए हमारे पास पैसे और हथियारों से भरे संसाधन खत्म हो जाएंगे। यूक्रेन को देने के लिए हमारे पास फंडिंग का कोई जादुई साधन मौजूद नहीं है। हमारे पास पैसे नहीं हैं और इसका समय भी खत्म हो गया है।’

Related posts

दुनिया के 130 देश, दिल्ली नहीं आने वाले पुतिन शामिल होंगे… बीआरआई पर शक्ति प्रदर्शन कर रहा चीन, भारत ने बनाई दूरी!

Clearnews

इसरो की सफलता से खुश होकर नासा के वैज्ञानिक ने बांधे प्रशंसा के पुल

Clearnews

इजरायल की दो-टूक: ‘दुनिया हमें नैतिकता का पाठ ना पढ़ाए, अपहृतों के लौटने तक गाजा में नहीं देंगे बिजली-पानी’

Clearnews