Saffron flag fadne vale legistor ke khilaph FIR darj

भगवा ध्वज (saffron flag) फाड़ने वाले विधायक (Legislator) के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज

जयपुर

राजधानी के आमागढ़ किले पर मंदिर में लगे भगवा ध्वज (saffron flag) को फाड़ने के मामले में जयपुर में सियासत तेज हो गई है। ध्वज फाड़ने के मामले में गुरुवार को बड़ी संख्या में भाजपा, विश्व हिंदु परिषद के कार्यकर्ता और शहर के लोग विधायक (legislator) रामकेश मीणा के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कराने ट्रांस्पोर्ट नगर थाने पहुंच गए। पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की तो थाने के सामने धरना दिया गया। देर रात पुलिस ने मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है।

जानकारी के अनुसार गुरुवार शाम कुछ भाजपा और विहिप कार्यकर्ता ध्वज फाड़ने के मामले में विधायक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के लिए ट्रांस्पोर्ट नगर थाने पहुंचे और एफआईआर दर्ज कराने की मांग की। इस पर थाने में मौजूद एसीपी और थाना इंचार्ज ने कार्यकर्ताओं को कहा कि इस मामले में परिवाद दर्ज कर हम जांच कर लेते हैं और उसके बाद एफआईआर दर्ज कर ली जाएगी।

इसपर कार्यकर्ताओं ने कहा कि जब पूरे मामले के वीडियो उपलब्ध हैं। विधायक ने भगवा ध्वज को उतारने के बजाए फाड़ दिया। पूरे घटनाक्रम का फेसबुक लाइव किया गया। इसके बाद जांच क्या बच जाती है, धार्मिक भावनाओं को आहत करने का मामला है, इसलिए इसमें सीधे ही एफआईआर दर्ज की जाए, लेकिन पुलिस अधिकारियों ने एफआईआर दर्ज नहीं की। ऐसे में गतिरोध बढ़ गया।

कार्यकर्ता थाने के सामने धरना देकर बैठ गए। फोन करके अन्य कार्यकर्ताओं को भी मौके पर बुला लिया गया। रात आठ बजे करीब 100 लोग थाने के सामने प्रदर्शन कर विधायक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग को लेकर डटे हुए थे। इनमें धरोहर बचाओ समिति के संरक्षक एडवोकेट भारत शर्मा, सर्व समाज हिंदु महासभा की ओर से अजय यादव, पार्षद सुनील दत्ता व अन्य लोग शामिल थे।

थाने के सामने भीड़ बढ़ती देख आखिरकार पुलिस प्रशासन दबाव में आया और रात करीब दस बजे इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली। एफआईआर दर्ज होने के बाद कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की और प्रदर्शन समाप्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *