दिल्लीसम्मान

उड़नपरी पीटी उषा हुईं लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड् से सम्मानित

महान एथलीट और भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) की अध्यक्ष पीटी उषा को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड्स से सम्मानित किया गया। यह अवार्ड उनको स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट फेडरेशन ऑफ इंडिया और दिल्ली स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट एसोसिएशन (डीएसजेए) द्वारा नेशनल स्पोर्ट्स क्लब ऑफ इंडिया, नई दिल्ली में दिया गया। पीटी उषा इस पुरस्कार को प्राप्त करने वाली पांचवीं प्राप्तकर्ता और पहली महिला प्राप्तकर्ता हैं।
इस अवसर पर उड़नपरी उषा को उनके शानदार खेल करियर का सम्मान करने के लिए एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और एक स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। समारोह में सम्मानित अतिथि राजीव शुक्ला, संसद सदस्य – राज्यसभा और उपाध्यक्ष, बीसीसीआई और पूर्व भारतीय निशानेबाज जसपाल राणा उपस्थित थे। टेनिस के दिग्गज विजय अमृतराज, पूर्व बैडमिंटन आइकन प्रकाश पादुकोण, भारत के महान क्रिकेटर सुनील गावस्कर और पूर्व धावक मिल्खा सिंह के बाद सुश्री पीटी उषा एसजेएफआई और डीएसजेए ‘लाइफटाइम अचीवमेंट’ पुरस्कार की पांचवीं प्राप्तकर्ता हैं।
अब तक मेरे कॅरियर को याद करना सौभाग्य की बात
कार्यक्रम में बोलते हुए, पी टी उषा ने कहा, ‘मैं आभारी हूं कि मेरे करियर की उपलब्धियों को आज तक याद किया जाता है। मेरे समय के दौरान, हमारे पास वे सभी सुविधाएं जैसे विदेशी प्रशिक्षण, पोषण, खेल मनोवैज्ञानिक और खेल विज्ञान सहित अन्य नहीं थीं जो आज के युग में एथलीटों के पास उपलब्ध हैं।अब जब मैं आईओए में काम कर रही हूं, तो हमारा प्रयास पेरिस ओलंपिक पर ध्यान केंद्रित करना है। उसके बाद हम 2036 तक भारत को खेल शक्ति बनाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण को पूरा करने पर अपना ध्यान केंद्रित करेंगे।
राजीव शुक्ला, संसद सदस्य-राज्यसभा ने कहा, ‘पीटी उषा उन्हें दिए गए सम्मान की हकदार हैं। वह देश में खिलाड़ियों के लिए एक प्रतीक और मार्गदर्शक भावना हैं। अब उन्हें भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) का संचालन करने का एक कठिन काम दिया गया है। और हमें विश्वास है कि वह इन संकटों से प्रभावी ढंग से निपटने में सक्षम होगी।
पूर्व भारतीय निशानेबाज जसपाल राणा ने कहा ‘जब खिलाड़ियों को पुरस्कार दिया जाता है तो उन्हें खुशी होती है. लेकिन जिस एथलीट को आप हमेशा सम्मान की नजर से देखते हैं। उसे इस कद का पुरस्कार देना एक अलग सम्मान है। मैं इसे दिए जाने के लिए आभारी हूं। पीटी उषा दुनिया भर के कई खिलाड़ियों के लिए आदर्श रही हैं। मुझे गर्व है कि उनके जैसा मजबूत व्यक्ति अब आईओए का प्रमुख है और उनके मार्गदर्शन और समर्थन से हम कई लड़ाइयों में सफल होंगे।
पुरस्कार समारोह के बाद, डीएसजेए कार्यकारी समिति के अध्यक्ष, अभिषेक त्रिपाठी ने पी टी उषा और सम्मानित अतिथि के प्रति अपना धन्यवाद व्यक्त किया।गौरतलब है कि पी टी उषा ने 1977 से 2000 के बीच अपने यादगार करियर में भारत के लिए 103 अंतर्राष्ट्रीय पदक जीते। उन्होंने एशियाई खेलों में चार स्वर्ण पदक और सात रजत पदक भी जीते और ओलंपिक के तीन संस्करणों में प्रतिस्पर्धा की। साल 1984 ओलंपिक में वह सेकेंड के सौवें हिस्से से कांस्य पदक से चूक गई थीं।

Related posts

आम आदमी को मिली महंगाई से कुछ राहत, महंगाई दर जनवरी में घटकर 5.10% पर आई

Clearnews

अब जाकर सामने आया ज्ञानवापी का प्रामाणिक नक्शा, कपोल कल्पित या सुनी सुनाई बातों पर बने थे पहले वाले..

Clearnews

सुप्रभात..कल की छोड़िये, परसों तो बीती थी साल की सबसे लंबी रात..!

Clearnews