locust-attack

टिड्डी नियंत्रण के लिए किसानों को करेंगे प्रशिक्षित

अजमेर अलवर उदयपुर कोटा जयपुर जोधपुर दौसा प्रतापगढ़ बाड़मेर बीकानेर श्रीगंगानगर सीकर हनुमानगढ़

जयपुर। प्रदेश में गहराते टिड्डी संकट से निपटने के लिए अब किसानों को भी प्रशिक्षित किया जाएगा। कृषि विभाग के उच्चाधिकारियों ने टिड्डी प्रभावित जिलों का दौरा करने के बाद हुई समीक्षा बैठक में यह बात कही।

विभाग के प्रमुख शासन सचिव नरेशपाल गंगवार ने मंगलवार को प्रभावित जिलों के दौरे पर गए अधिकारियों से फीडबैक लिया। इस दौरान टिड्डी नियंत्रण व्यवस्था को और सुदृढ करने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव मिले। इनमें कहा गया कि काश्तकारों को टिड्डी नियंत्रण के लिए प्रशिक्षित किया जाए। कुछ जिलों में कीटनाशक छिड़काव के लिए ड्रोन की संख्या बढ़ाने, ट्रेक्टर माउंटेड स्प्रेयर की उपलब्धता बढ़ाने के सुझाव बढ़ाने की मांग हुई।

विगत दिनों में प्रमुख शासन सचिव गंगवार ने जोधपुर, बाड़मेर, जैसलमेर, कृषि आयुक्त डॉ. ओमप्रकाश ने बाड़मेर, जैसलमेर, राजस्थान कृषि प्रतिस्पर्धात्मक परियोजना के निदेश आलोक रंजन ने नागौर, बीकानेर, कृषि विपणन विभाग के निदेशक ताराचंद मीना ने सिरोही, संयुक्त शासन सचिव एसपी सिंह ने जोधपुर व कुछ अन्य अधिकारियों ने जालौर और पाली जिलों का दौरा किया। अधिकारियों ने टिड्डी नियंत्रण प्रयासों का जायजा लिया। जिला कलेक्टर, उपखंड अधिकारी, टिड्डी चेतावनी संगठन, कृषि एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों और किसानों से चर्चा की।