3 people caught selling slippers fitted with bluetooth devices for 6 lakhs to REET candidates

रीट (REET)अभ्यर्थियों को ब्लूटूथ (Bluetooth) डिवाइस लगी चप्पल (slippers) 6 लाख में बेचने वाले तीन लोगों को पकड़ा

जयपुर

बीकानेर। राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET) के साथ नकल कराने वाले गिरोह भी एक्टिव रहे। रविवार को परीक्षा शुरू होते ही प्रदेश में अलग-अलग जगह कार्रवाइयों में नकलचियों को गिरफ्तार किया गया। इस दौरान नकलची परीक्षार्थियों ने नकल करने के अलग-अलग तरीके अपनाए। सबसे अजीब मामला बीकानेर में सामने आया। जहां अभ्यर्थियों को ब्लूटूथ (Bluetooth) डिवाइस लगी चप्पल (slippers) देने वाले 3 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

बीकानेर के गंगाशहर में इन लोगों ने परीक्षार्थियों को यह डिवाइस लगी चप्पल उपलब्ध कराई। शुरुआती जांच में सामने आया कि आरोपियों ने डिवाइस लगी चप्पल करीब 6 लाख रुपए में अभ्यर्थियों को बेची थी।

पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा ने बताया कि तीन युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने ओम प्रकाश, मदन व त्रिलोक नामक तीन युवकों को पकड़ा है। ये सभी चूरू के रहने वाले हैं। वहीं एक आरोपी तुलसीराम कलेरा को नामजद किया गया है। जो पहले भी नकल के एक मामले में गिरफ्तार हो चुका है। कलेरा बीकानेर में कोचिंग संस्थान चलाता था। ये लोग चप्पल में डिवाइस लगाकर अभ्यर्थियों को बेच रहे थे। इनसे कई अन्य सामान भी मिले हैं, जो नकल में काम आते हैं। कार्रवाई गंगाशहर पुलिस और डीएसटी टीम ने मिलकर की है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र सिंह इंदोरिया तीनों युवकों से पूछताछ कर रहे हैं। इंदोरिया ने बताया कि गिरफ्तार युवकों ने डिवाइस लगी चप्पलें तैयार की थीं। इनसे पता लगाया जा रहा है कि इन्होंने किस-किस स्टूडेंट्स को चप्पल देकर परीक्षा केंद्रों पर भेजा है।

थानाधिकारी राणीदान ने बताया कि बीकानेर पुलिस ने नकल पर काबू पाने के लिए अपनी साइबर टीम को सक्रिय किया हुआ था। जैसे ही नकल का कोई इनपुट आ रहा है, वैसे ही उसे तत्काल चैक किया जा रहा है। इसी प्रयास के बीच गंगाशहर पुलिस को यह सफलता मिली है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *