आमागढ़ प्रकरण (Aamagarh Fort Temple Case) पर सियासत तेज, सांसद किरोड़ीलाल (MP Kirodi Lal) ने रैली निकाल पुलिस कमिश्नर को सौंपा ज्ञापन, कहा कांग्रेस फैलाना चाहती है सामाजिक विद्वेश

आमागढ़ प्रकरण (Aamagarh Fort Temple Case) पर सियासत तेज, सांसद किरोड़ीलाल (MP Kirodi Lal) ने रैली निकाल पुलिस कमिश्नर को सौंपा ज्ञापन, कहा कांग्रेस फैलाना चाहती है सामाजिक विद्वेश

जयपुर

आमागढ़ फोर्ट के मंदिर (Aamagarh Fort Temple ) पर लगे ध्वज को फाड़ने के मामले में दो दिनों से जयपुर में राजनीति उबाल पर है। सांसद किरोड़ी लाल मीणा (MP Kirodi Lal Meena) ने शुक्रवार, 30 जुलाई को आदर्श नगर के सूरज मैदान से पुलिस कमिश्नरेट तक वाहन रैली निकाली और कुछ विधायकों को इस पूरे प्रकरण के लिए दोषी ठहराया।

सांसद किरोड़ी लाल मीणा के निर्देशन में शुक्रवार दोपहर युवा आक्रोश रैली निकाली गई। बड़ी संख्या में मीणा के समर्थक सूरज मैदान पर एकत्रित हुए। सांसद मीणा के साथ यह सभी समर्थक मोटरसाइकिल रैली निकालते हुए शहीद स्मारक पहुंचे। कई सामाजिक संगठन भी इस रैली में शामिल रहे। लोगों ने विधायक रामकेश मीणा के खिलाफ नारेबाजी की।

कमिश्नर को ज्ञापन देने से पहले किरोड़ीलाल मीणा ने शहीद स्मारक पर आह्वान करते हुए कहा कि गर्व से कहो हम हिंदू है। नेता अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए सामाजिक सौहार्द को बिगाडऩे व बांटने की कोशिश कर रहे है। हम भगवा के सम्मान में सड़कों पर उतरे है। हमारी सामाजिक व ऐतिहासिक धरोहरों पर कब्जे, उनका नाम बदलने की साजिश चल रही है। यह एक राजनीतिक साजिश है।

उन्होंने कहा कि मीणा आदिवासी समाज हिंदू था और हिंदू ही रहेगा। जो लोग खुद को हिंदू नहीं मानते है। उसका आरक्षण खत्म कर देना चाहिए। आमागढ़ पहाड़ी पर शिव परिवार की मूर्तियां तोडऩे वाले समाज कंटक है। ऐसे फरार असामाजिक तत्वों को तत्काल गिरफ्तार करना चाहिए। पुलिस ने यहां से झंडे हटा दिए। ताला लगा दिए। मंदिर में प्रवेश और पूजा पर पाबंदी लगा दी। इसको तत्काल हटाया जाए। मीणा ने घोषणा की एक अगस्त को बड़ी संख्या में लोग आमागढ़ फोर्ट जाकर मीना समाज का ध्वज फहराएंगे और मंदिर में पूजा अर्चना करेंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *