कूटनीतिदिल्ली

ग्लोबल टाइम्स ने मोदी सरकार की तारीफ में पढ़े कसीदे, भारत पर इतना प्यार क्यों लुटा रहा चीन..?

चीन के सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में भारत की आर्थिक वृद्धि और विदेश नीति की जमकर तारीफ की है। अपने लेख में ग्लोबल टाइम्स ने कहा कि भारत इंडिया नैरेटिव बनाने और उसे विकसित करने में रणनीतिक रूप से अधिक क्षमतावान हो गया है।
भारत की उल्लेखनीय उपलब्धियों पर प्रकाश डाला
चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के मुखपत्र कहे जाने वाले ग्लोबल टाइम्स में भारत की तारीफ वाला लेख आना किसी चमत्कार से कम नहीं माना जा रहा। इस लेख को शंघाई के फुडन यूनिवर्सिटी में सेंटर फॉर साउथ एशियन स्टडीज के डायरेक्टर झांग जियाडोंग ने लिखा है, जिसमें पिछले चार वर्षों में भारत की उल्लेखनीय उपलब्धियों पर प्रकाश डाला गया है।
भारत को लेकर क्या बोला ग्लोबल टाइम्स
ग्लोबल टाइम्स के इस लेख को भारत की मजबूत आर्थिक वृद्धि, शहरी शासन में सुधार और अंतरराष्ट्रीय संबंधों, विशेष रूप से चीन के साथ दृष्टिकोण में बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है। अपने लेख में झांग ने कहा, ‘उदाहरण के लिए, चीन और भारत के बीच व्यापार असंतुलन पर चर्चा करते समय, भारतीय प्रतिनिधि पहले मुख्य रूप से व्यापार असंतुलन को कम करने के लिए चीन के उपायों पर ध्यान केंद्रित करते थे। लेकिन, अब वे भारत की निर्यात क्षमता पर अधिक जोर दे रहे हैं।’ लेख में यह भी कहा गया है कि अपने तीव्र आर्थिक और सामाजिक विकास के साथ, भारत रणनीतिक रूप से अधिक आश्वस्त हो गया है और ‘इंडिया नैरेटिव’ बनाने और विकसित करने में अधिक सक्रिय हो गया है।
पश्चिम के साथ भारत की बराबरी को सराहा
2 जनवरी को प्रकाशित इस लेख में कहा गया है, ‘राजनीतिक और सांस्कृतिक क्षेत्रों में, भारत पश्चिम के साथ अपनी लोकतांत्रिक सहमति पर जोर देने से आगे बढ़कर लोकतांत्रिक राजनीति की ‘भारतीय विशेषता’ को उजागर करने लगा है। वर्तमान में, लोकतांत्रिक राजनीति के भारतीय मूल पर और भी अधिक जोर दिया जा रहा है।’ लेखक ने जोर देकर कहा कि यह बदलाव भारत की ऐतिहासिक औपनिवेशिक छाया से बचने और राजनीतिक और सांस्कृतिक रूप से ‘विश्व गुरु’ के रूप में कार्य करने की महत्वाकांक्षा को दर्शाता है।
भारतीय विदेश नीति की भी तारीफ की
इसके अलावा, लेख में पीएम मोदी के तहत भारत की विदेश नीति रणनीति की सराहना की गई, जिसमें देश के मल्टी डायमेंशनल दृष्टिकोण और अमेरिका, जापान और रूस जैसी प्रमुख वैश्विक शक्तियों के साथ संबंधों को मजबूत करने पर प्रकाश डाला गया। लेख में रूस-यूक्रेन संघर्ष में स्वतंत्र विदेश नीति को लेकर भी भारत की तारीफ की गई है। लेख में कहा गया है कि विदेश नीति में भारत की रणनीतिक सोच में एक और बदलाव आया है और वह स्पष्ट रूप से एक महान शक्ति रणनीति की ओर बढ़ रहा है।
भारत के विकास की गति को बताया ऐतिहासिक
झांग ने लेख में कहा, ‘जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सत्ता संभाली है, उन्होंने अमेरिका, जापान, रूस और अन्य देशों और क्षेत्रीय संगठनों के साथ भारत के संबंधों को बढ़ावा देने के लिए मल्टी डायमेंशनल रणनीति की वकालत की है।’ उन्होंने लिखा, ‘भारत ने हमेशा खुद को एक विश्व शक्ति माना है। हालांकि, भारत को मल्टी बैलेंसिंग रणनीति से बहु-डायमेंशनल रणनीति में शिफ्ट हुए केवल 10 साल से भी कम समय हुआ है, और अब यह बहुध्रुवीय दुनिया में एक ध्रुव बनने की रणनीति की ओर तेजी से बदल रहा है। अंतरराष्ट्रीय संबंधों के इतिहास में इस तरह के बदलाव की गति कम ही देखने को मिलती है।’

Related posts

गैंगस्टर गोल्डी बराड़ आतंकी घोषित: यूएपीए के तहत केंद्रीय गृह मंत्रालय का बड़ा कदम

Clearnews

ऑस्ट्रेलिया विश्वकप टेस्ट सीरीज का चैंपियन..! भारत 209 रनों से हारा

Clearnews

मोसाद-सीआईए की सटीक चाल: बाइडन की आखिरी ‘धमकी’ से घुटनों पर आया हमास

Clearnews