जोधपुर के खेत में मिले 11 पाक विस्थापितों के शव

जोधपुर

सभी मृतक एक ही परिवार के

जयपुर। जोधपुर जिले के देचू थाना इलाके के गांव लोडता अचलावता में एक खेत में रविवार सुबह 11 लोगों के शव मिलने से सनसनी फैल गई। सभी मृतक एक ही परिवार के थे। यह परिवार पाकिस्तान से विस्थापित होकर जोधपुर में आया था और एक खेत में काम कर रहा था।

घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। प्रारंभिक जांच के बाद शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया। मौत के कारणों का अभी खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस इसे पारिवारिक कलह के कारण आत्महत्या मान रही है, लेकिन 11 लोगों की मौत के असली कारण का खुलासा विस्तृत जांच के बाद हो पाएगा।

पुलिस के अनुसार घटनास्थल पर एक सुसाइड नोट मिला है। पुलिस जहां सुसाइड नोट के आधार पर सामूहिक आत्महत्या के कारणों को जानने में लगी है, वहीं दूसरी ओर षडयंत्र के तहत हत्या को ध्यान में रखकर भी जांच कर रही है। खेत मालिक और आस-पास के निवासियों से भी पूछताछ की जा रही है।

पुलिस के अनुसार मृतकों में 2 पुरुष, 4 महिलाएं और 5 बच्चे हैं। इनमें बुधाराम-75, अंतरा देवी-70 साल, लक्ष्मी-40, रवि-31, जिया-25, सुमन-22, नैन-12, मुकदश-17, दानिश-10, दयाल-11, दिया-05 वर्ष के हैं।

मृतक परिवार पाकिस्तान से विस्थापित भील समुदाय का है, जो कुछ समय पूर्व ही इस खेत पर मजदूरी करने के लिए आया था। परिवार के सदस्य खेत में ही बनी झोंपड़ी में रह रहे थे। घटना की सबसे पहले सूचना परिवार के एकमात्र जीवित सदस्य केवलराम-35 को मिली।

केवलराम शनिवार रात ट्यूबवैल चलाने चला गया था और वहीं सो गया था, इस कारण वह जीवित बच गया। सुबह जब उसने झोंपड़ी पर जाकर देखा, तो उसके सामने परिवार के 11 लोगों की लाशें पड़ी थी। घटना की जानकारी मिलने के बाद इसकी सूचना आग की तरह पूरे इलाके में फैल गई।

शेरगढ़ विधायक मीना कंवर राठौड़ ने इस घटना की जानकारी मुखमंत्री अशोक गहलोत को फोन पर दी। गहलोत ने घटना पर दुख जताया और पुलिस अधीक्षक व जिला कलेक्टर को उचित एवं निष्पक्ष जांच के निर्देश दिए। पाक विस्थापितों के नेता हिंदू सिंह सोढ़ा ने भी घटना पर दुख जताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *