Raghu Sharma 4 January

कोविड इलाज के बाद के प्रभावों का उपचार अब राजस्थान सरकार की नंबर 1 प्राथमिकताः रघु शर्मा, चिकित्सा मंत्री

स्वास्थ्य

कोविड संक्रमण के बाद के उपचार के संदर्भ में राजस्थान के चिकित्सा व स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा है कि कोरोना संक्रमण में कमी लाने के बाद अब सरकार और विभाग का ध्यान कोविड प्रभाव को कम कर प्रभावितों को राहत देने पर है। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण का इलाज कराने के बाद उसके प्रभावों का उपचार करना अब सरकार की नंबर 1 प्राथमिकता है। 

उन्होंने कोविड के इलाज के बाद के प्रभावों से जूझ रहे व्यक्तियों से चिकित्सा विभाग द्वारा संचालित “पोस्ट कोविड केयर क्लिनिक्” और “डे केयर ” सेंटर्स के जरिए परामर्श और उपचार करवाने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण से ठीक हुए व्यक्ति लगातार चिकित्सकों से संपर्क में रहकर राहत पा सकते हैं।

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि पोस्ट कोविड प्रभावों के रूप में शारीरिक कमजोरी, फेफड़ों की कमजोरी, हाथ-पावों में दर्द जैसे कई लक्षण प्रतीत हो रहे हैं। कोविड के इलाज के बाद प्रभावों को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के राजकीय चिकित्सा संस्थानों में पोस्ट कोविड सेंटर्स स्थापित किए गए हैं। कोविड संक्रमण से ठीक हुए व्यक्ति यहां विशेषज्ञ चिकित्सकों की देखरेख में परामर्श और उपचार का लाभ ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि इन सेंटर्स में मनोचिकित्सकों और विशेषज्ञों द्वारा भी परामर्श दिया जा रहा है। उन्होंने कहा, सरकार की मंशा है कि कोविड संक्रमण के इलाज के बाद के प्रभावों से भी ज्यादा से ज्यादा लोगों को राहत मिल सके।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार ने चिकित्सकों के विशेषज्ञ समूह को भी कोविड इलाज के बाद के प्रभावों संबंधी शोध करने के निर्देश दिए है, ताकि कोविड इलाज के प्रभावों के उपचार के लिए योजना बनाई जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार के प्रयासों से कोविड संक्रमितों की रिकवरी 96 फीसद रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *