under-the-prime-minister-kisan-samman-nidhi-pm-modi-will-send-18-thousand-crore-installment-to-the-account-of-9-crore-farmer-families

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत 9 करोड़ किसान परिवारों के खाते में पीएम मोदी भेजेंगे 18 हजार करोड़ की किस्त

कृषि

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शुक्रवार, 25 दिसम्बर को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) के तहत किसानों को दी जाने वाली वित्तीय लाभ की अगली किस्त जारी करेंगे। इस तरह पीएम मोदी 9 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसान परिवारों के खातों में 18 हजार करोड़ रुपए से अधिक की राशि हस्तांतरित करने वाले हैं।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने इस मौके को ”उत्सव” के तौर पर मनाने का फैसला किया है। इसके लिए कई विभिन्न कार्यक्रमों को आयोजित कर किसानों से संवाद स्थापित करने के प्रयास किये जाएंगे। स्वयं प्रधानमंत्री मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से छह राज्यों के किसानों से संवाद करेंगे। जिसमें वे सरकार की ओर से शुरू किए गए किसान हितों की योजनाओं व कार्यक्रमों पर चर्चा भी करेंगे।

राहुल गांधी मिले राष्ट्रपति से तो कृषि बिल समर्थक किसान नेता मिले कृषि मंत्री तोमर से

Rahul Presidnt
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर किसानों की मांगे सुनने के लिए ज्ञापन सौंपा

उधर, नये कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े किसान करीब महीने भर दिल्ली में प्रवेश की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। वे सरकार की ओर से कानूनों में संशोधन की बात के लेकर कई दौर की चर्चाओं के बाद भी तेज होती सर्दी में अपने-अपने स्थानों से हटने को तैयार नहीं है। यही नहीं वे तो अपने आंदोलन को और तेज करने की बात कर रहे हैं।

किसानों की मांगों को कांग्रेस समर्थन दे रही है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस संदर्भ में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की ओर उनसे कहा कि कृषि कानून वापस लेने ही होंगे, किसान और मजदूर के सामने कोई शक्ति खड़ी नहीं हो सकती। दूसरी ओर,किसानों के दिल्ली सीमाओं पर प्रदर्शन के बीच कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से उत्तर प्रदेश के दो किसान संगठनों ( किसान मजदूर संघ व किसान सेना) के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की और नये कृषि कानूनों को रद्द नहीं करने की मांग की।

सांसद, विधायक और मंत्री करेंगे किसानों से संवाद

उधर, केंद्र सरकार प्रदर्शन कर रहे किसानों की मांगों पर ध्यान देने की बजाय अपनी ओर से किसान पंचायतें लगाकर उनसे संवाद करने के प्रयास कर रही है। यही वजह है कि शुक्रवार 25 दिसम्बर को केंद्रीय मंत्री, सांसद, विधायक और सभी निर्वाचित जनप्रतिनिधियों के साथ अन्य भाजपा नेता देश भर में पार्टी की ओर से आयोजित कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे और किसानों से संवाद करने वाले हैं।

राजस्थान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां 25 दिसंबर को सुबह 11:00 बजे जयपुर के आमेर विधानसभा क्षेत्र में कालवाड रोड स्थित महेशवास में किसान सम्मेलन को संबोधित करेंगे जिसमें वे केंद्र में सत्तरूढ़ मोदी सरकार की नीतियों को लेकर किसानों से संवाद करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *