जयपुर

राजस्थान में आईटीआई एवं तकनीकी दक्ष नाॅन-आईटीआई युवाओं के लिए जिला, संभाग एवं राज्य स्तर पर आयोजित होगी ‘राज स्किल-2022’ प्रतियोगिता

जयपुर। कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता विभाग की ओर से प्रशिक्षणार्थियों में आपसी प्रतिस्पर्धा की भावना बढ़ाकर कौशल में अधिक दक्ष बनाने के लिए ‘राज स्किल-2022’ प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। तीन चरणों में होने वाली यह प्रतियोगिता औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) के प्रशिक्षणार्थियों एवं तकनीकी दक्ष नाॅन-आईटीआई युवाओं के लिए अलग-अलग होगी।

कौशल, नियोजन एवं उद्यमिता राज्य मंत्री अशोक चांदना ने बताया कि राजकीय एवं निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में सर्वाधिक लोकप्रिय विद्युतकार, फिटर एवं डीजल मैकेनिक इंजीनियरिंग व्यवसाय तथा कोपा एवं स्विंग टेक्नोलाॅजी-ड्रेस मेकिंग नाॅन इंजीनियरिंग व्यवसायों में प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। इसी प्रकार तकनीकी रूप से दक्ष नाॅन-आईटीआई आम युवाओं के लिए समानान्तर श्रेणी में प्रतियोगिता करवाकर उन्हें कौशल प्रदर्शन का मंच उपलब्ध कराया जाएगा।

व्यवसायवार मेरिट तैयार कर कराई जाएगी जिला स्तरीय प्रतियोगिता
शासन सचिव डॉ. आरुषी मलिक ने बताया कि आईटीआई श्रेणी के अन्तर्गत जिला समन्वय अधिकारी के निर्देशन में 4 जून तक चयनित व्यवसायवार मेरिट तैयार कर प्रत्येक व्यवसाय के प्रथम 25 अभ्यर्थियों के मध्य 8 एवं 9 जून को जिला स्तरीय कौशल प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी, जिसमें पहले चार-चार स्थान पर रहने वाले प्रशिक्षणार्थी 15 एवं 16 जून को संभाग स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेंगे। संभाग स्तरीय प्रतियोगिता में प्रत्येक व्यवसाय के पहले तीन स्थान पर रहने वाले प्रशिक्षणार्थी 21 एवं 22 जून को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेंगे। राज्य स्तरीय प्रतिभागी प्रशिक्षणार्थियों में से प्रत्येक व्यवसाय में पहले, दूसरे एवं तीसरे स्थान पर रहने वाले प्रतिभागियों को राज्य स्तरीय विजेता घोषित किया जाएगा।

नाॅन-आईटीआई प्रतिभागियों के लिए तकनीकी-शैक्षणिक योग्यता जरूरी नहीं
डॉ. मलिक ने बताया कि नाॅन-आईटीआई श्रेणी के प्रतिभागियों के लिए कोई निर्धारित तकनीकी एवं शैक्षणिक योग्यता का होना जरूरी नहीं है। प्रतिभागी स्वयं द्वारा तैयार उत्पाद एवं माॅडल जिला स्तरीय समिति के समक्ष प्रस्तुत करेंगे। जिला स्तरीय कमेटी चयनित अधिकतम 4 प्रतिभागियों को संभाग स्तर पर भाग लेने के लिए भेजेगी। संभाग से राज्य स्तर के लिए समान प्रक्रिया अपनाकर अधिकतम 3-3 प्रतिभागियों का चयन किया जाएगा। इनमें से प्रथम 3 विजेताओं का चयन किया जाएगा।

हर स्तर पर विजेताओं को मिलेगा पुरस्कार
डॉ. आरुषी मलिक ने बताया कि प्रत्येक स्तर पर भाग लेने वाले प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र दिया जाएगा। जिला स्तर पर प्रतियोगिता में प्रथम चार स्थान एवं संभाग स्तर पर प्रथम तीन स्थान पर आने वाले प्रतिभागियों को समारोह आयोजित कर पारितोषिक दिया जाएगा। राज्य स्तरीय समारोह में प्रत्येक व्यवसाय में प्रथम तीन छात्र-छात्रा प्रतिभागियों को पुरस्कार दिया जाएगा।

Related posts

मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना एवं निःशुल्क यूनिफॉर्म वितरण योजना का शुभारंभ

admin

राजस्थान बनेगा पेट्रोकेमिकल्स उद्योगों का हब, रिफाइनरी के साथ विकसित हो रहा नया निवेश क्षेत्र पीसीपीआईआर

admin

आरपीएससी ने आमंत्रित किए प्राध्यापक-स्कूल शिक्षा के 6000 पदों पर भर्ती हेतु ऑनलाइन आवेदन

admin