ACB's big action in Rajasthan on Anti Corruption Day, Sawai Madhopur traps ACB in-charge, District Transport Officer arrested while giving 80 thousand tied

एंटी करप्शन डे पर एसीबी की राजस्थान में बड़ी कार्रवाई, सवाईमाधोपुर एसीबी प्रभारी को किया ट्रेप, 80 हजार की बंधी देते हुए जिला परिवहन अधिकारी भी गिरफ्तार

जयपुर क्राइम न्यूज़

जयपुर। एंटी करप्शन डे पर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) राजस्थान ने बड़ी कार्रवाई करते हुए बुधवार को सवाईमाधोपुर में अपनी ही चौकी प्रभारी उप अधीक्षक भैरूलाल मीणा के खिलाफ ट्रेप की कार्रवाई को अंजाम दिया। राजस्थान में पहली बार ऐसी कार्रवाई सामने आई है, जिसमें एसीबी ने अपने ही उप अधीक्षक को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। मीणा को 80 हजार रुपए की मासिक बंधी देते हुए सवाईमाधोपुर के जिला परिवहन अधिकारी महेशचंद को भी गिरफ्तार किया गया।

एसीबी के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि एसीबी मुख्यालय को सवाईमाधोपुर प्रभारी द्वारा अपने कार्यालय में अलग-अलग विभागों के अधिकारियों से मासिक बंधी लिए जाने की सूचनाएं मिल रही थी। इन सूचनाओं पर निगरानी रखी गई और आज पुख्ता सूचना मिलने पर अतिरिक्त महानिदेशक दिनेश एमएन के निर्देशन में जयपुर मुख्यालय इकाई के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पुष्पेंद्र सिंह राठौड़ के नेतृत्व में उप अधीक्षक मांगीलाल व उनकी टीम ने ट्रेप की कार्रवाई की।

भैरूलाल मीणा को उनके कार्यालय में 80 हजार की मासिक बंधी लेते और जिला परिवहन अधिकारी महेश चंद को रिश्वत देते गिरफ्तार किया गया। सोनी ने बताया कि दोनों आरोपियों के आवास व अन्य ठिकानों पर एसीबी टीमों की ओर से तलाशी ली जा रही है।

परिवादियों को किया सम्मानित

सोनी ने एंटी करप्शन डे पर कहा कि भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत रिश्वत लेना व देना अपराध की श्रेणी में आता है। रिश्वत मांगने की शिकायत देने वाले की जानकारी गोपनीय रखी जाती है। उन्होंने प्रदेशवासियों से अपील की कि वह एसीबी की टोल फ्री हेल्पलाइन पर संपर्क करके भ्रष्टाचार के विरुद्ध अभियान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें। एसीबी राज्य कर्मियों के साथ-साथ केंद्र सरकार के कार्मिकों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए अधिकृत है।

दिनेश एमएन ने कहा कि आज के दिन को एसीबी कृतज्ञता दिवस के रूप में मना रही है। पिछले तीन सालों के हमारे परिवादियों को चौकियों पर बुलाकर सम्मानित किया जा रहा है। यदि परिवाद के कारण उनके काम अटके हुए हैं तो उन कामों को पूरा कराने का भी प्रयास किया जा रहा है।

अजब संयोग, परिवहन विभाग के खिलाफ दर्ज हो गया अभियोग

एसीबी की आज की कार्रवाई में कई अजब संयोग देखने को मिले। पहला संयोग यह कि एसीबी ने अपने ही अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करके स्पष्ट संदेश दे दिया कि करप्शन को कहीं भी बर्दाष्त नहीं किया जाएगा। दूसरा संयोग यह कि एंटी करप्शन डे पर एसीबी की ओर से बड़ी कार्रवाईयों को अंजाम दिया गया और पहली बार जनता को पता चला कि एंटी करप्शन के नाम पर भी किसी दिन का नाम है। तीसरा संयोग यह कि एसीबी कार्रवाई पर प्रदेश में पहली बार किसी मंत्री ने बयान दिया था और आज उसी विभाग का कारिंदा एसीबी के लपेटे में आ गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *