Agrasen gehlot shop

मुख्यमंत्री गहलोत के बड़े भाई के घर पर ईडी का छापा

जोधपुर जयपुर राजनीति

जयपुर। राजस्थान के सियासी संग्राम के बीच ईडी ने राजस्थान समेत चार राज्यों के छह स्थानों पर एक साथ उर्वरक घोटाले की जांच के लिए छापेमारी की कार्रवाई की। जोधपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बड़े भाई अग्रसेन गहलोत के घर और प्रतिष्ठान पर छापेमारी की कार्रवाई की गई। इस कार्रवाई के साथ ही प्रदेश में सियासी पारा एक बार फिर से ऊपर चढ़ गया है।

बुधवार सुबह 8 बजे ही ईडी की टीम ट्रेवल बस में सवार होकर जोधपुर पावटा चौराहे पर पहुंच गई और मुख्यमंत्री के भाई की दुकान खुलने का इंतजार करने लगी। कहा जा रहा है कि अधिकारियों ने पीपीई किट पहन रखे थे।

करीब 11 बजे दुकान खुलने पर टीम दुकान में दाखिल हुई और तलाशी का काम शुरू कर दिया। इस दौरान दुकान के बाहर सीआरपीएफ के अधिकारी और हथियारबंद जवान तैनात कर दिए गए। वहीं दूसरी टीम ने अग्रसेन गहलोत के फार्महाउस पर तलाशी का काम शुरू कर दिया। अपुष्ट सूत्रों के अनुसार एक टीम द्वारा पाली सांसद बद्री जाखड़ के जोधपुर स्थित घर और होटल जाने की भी सूचना मिली है।

प्रवर्तन निदेशालय 150 करोड़ रुपए के उर्वरक घोटाले की जांच के लिए यह कार्रवाई कर रही है। सूत्रों के अनुसार देश के कई राज्यों में फर्टिलाइजर से जुड़े मामलों में यह कार्रवाई हो रही है। जोधपुर में भी फर्टिलाइजर कारोबारियों के यहां कार्रवाई की जा रही है। ईडी की कार्रवाई राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात और बंगाल के छह शहरों में चल रही है। मुख्यमंत्री गहलोत के भाई भी खाद और बीज के व्यापारी हैं।

कांग्रेस आई हरकत में

ईडी छापों की सूचना के साथ ही कांग्रेस भी हरकत में आ गई। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दिल्ली रोड स्थित होटल फेयरमाउंट में पत्रकार वार्ता आयोजित कर केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि यह सारी कार्रवाई केंद्र सरकार के इशारे पर हो रही है।

सुरजेवाला ने कहा कि केंद्र सरकार इस षडयंत्र में कामयाब नहीं हो पाएगी। उन्होंने अब प्रजातंत्र को चुनौति दी है। केंद्र के इशारे पर विधायक कृष्णा पूनिया से सीबीआई ने जबरन पूछताछ की, मुख्यमंत्री के ओएसडी देवाराम सैनी को भी कल सीबीआई ने बुलाया था। इससे पहले धर्मेद्र राठौड़, राजीव अरोड़ा और फेयरमाउंट होटल के मालिक पर कार्रवाई की गई।

जब सारे हथकंड़े फेल हो गए तो अब ईडी अग्रसेन गहलोत के घर पर छापा मारने पहुंच गई। केंद्रीय सशस्त्र बलों को साथ लेकर कार्रवाई हो रही है, जबकि अग्रसेन का राजनीति से कोई लेनादेना नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी ने राजस्थान में रेड राज किया हुआ है। इस रेड राज से राजस्थान की 8 करोड़ जनता घबराने वाली नहीं है।

प्रदेश की चुनी हुई सरकार को गिराने में जब उनकी पार्टी फेल हो जाती है तो फिर ईडी और सीबीआई सामने आ जाती है। केंद्र जितना भी गैर कानूनी काम कर सकती है, कर ले, लेकिन हम डरेंगे नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *