Pickup palatne se kuchamancity ki 3 mahilaoon ki death, ded darjan ghayal

पिकअप (pickup) पलटने से कुचामन (kuchaman city) की 3 महिलाओं की मौत (death), डेढ़ दर्जन घायल

जयपुर

रिश्तेदार की मौत पर कुचामनसिटी (kuchaman city)से तोषिणा जा रहे लोगो से भरी पिकअप (pickup) गाड़ी अनियंत्रित होकर पलट जाने से करीब डेढ दर्जन लोग घायल हो गए। घटना सोमवार सुबह करीब 11 बजे बूडसू-देवरी गांव के बीच घटी।

घायल लोगों में सभी कुचामनसिटी के लुहारिया बास निवासी है। इनमें से एम महिला की मौके पर तो दो महिलाओं की इलाज के दौरान मौत (death) हो गई। ये सभी लोग एक ही पिकअप गाड़ी में सवार होकर तोषिणा के लिए रवाना हुए थे। रास्ते में अचानक बैलेंस बिगड़ जाने से पिकअप पलट गई। सभी लोग सड़क पर दूर तक छिटक कर जा गिरे।

घटना के तुरंत बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को एम्बुलेंस व निजी वाहनों से पहले बूडसू फिर राजकीय चिकित्सालय कुचामनसिटी पहुंचाया। पीएमओ डॉ. शकील मोहम्मद राव ने बताया कि करीब आधा दर्जन चिकित्सकों, कम्पाउण्डरों व चिकित्सकीय स्टॉफ ने घायलों का तुंरत इलाज किया। एक महिला ने मौके पर ही दम तोड़ दिया तथा दो अन्य गंभीर महिलाओं की इलाज के दौरान मौत हो गई। गंभीर 8 घायलों को उपचार के लिए जयपुर रैफर किया गया।

घटना की सूचना जैसे ही शहर में फैली लोग तुरंत हॉस्पिटल में जमा हो गए। सैकड़ों की संख्या में लोग चिकित्सालय परिसर में एकत्रित हो गए। बाद में थानाधिकारी रामवीर जाखड़ ने स्वयं सख्ती के साथ भीड़ को वहां से हटाया। इस दौरान घायलों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। हर तरफ चीख-पुकार मची थी।

घायलों में छोटी पत्नी सुखाराम गुर्जर, बिद्दी पत्नी रामकरण, पतासी पत्नी दुलाराम, नन्दू पत्नी कानाराम, रामप्यारी पत्नी मोहनराम, भंवर पत्नी कालूराम, सुखाराम पुत्र चन्द्राराम, दुर्गा देवी पत्नी रामुराम गुर्जर, सायरी पत्नी भंवरलाल, छोटी देवी पत्नी भंवरलाल, नाथूराम पुत्र बीरदाराम निवासी सुजानपुरा, छितरमल पुत्र लिछाराम, घासीराम पुत्र भींवाराम गुर्जर सुजानपुरा, कमली पत्नी बिरदाराम, बिदामी पत्नी छितरमल, बालुदेवी पत्नी भंवरलाल गुर्जर, बेबी पत्नी अमराराम, बालुराम पत्नी भंवरलाल निवासी लुहारिया बास कुचामनसिटी निवासी है।

दुर्घटना की सूचना मिलने पर उपमुख्य सचेतक व स्थानीय विधायक महेन्द्र चौधरी, नगरपालिका में चैयरमेन आसिफ खान, वाइस चैयरमेन हेमराज चावला राजकीय चिकित्सालय पहुंचे तथा घायलों के इलाज की पूरी व्यवस्था कराई। इन्होंने वार्ड में भर्ती घायलों की भी कुशलक्षेम पूछी और हॉस्पिटल स्टॉफ को विशेष देखरेख करने के निर्देश दिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *