जयपुर

इस दीपावली घर में ही मिठाई बनाने में भलाई

पावटा में डेढ़ क्विंटल दूषित मावा और डेढ़ क्विंटल मिलावटी मिल्क केक नष्ट कराया

जयपुर। दीपावली के त्योहार पर यदि आप हर बार की तरह बाजार से मिठाई खरीदने की सोच रहे हैं, तो सावधान हो जाइये, कहीं बाजार की मिठाई अपको या आपके परिवार को कोरोना काल में अस्पताल का रास्ता न दिखा दें, क्योंकि बाजार में धडल्ले से घटिया सामग्रियों से मिठाइयां बनाई और महंगे दामों में बेची जा रही है। हाल यह है कि शहर की प्रतिष्ठित मिठाई दुकानों में भी अवधिपार सामग्रियां मिल रही है। ऐसे में अगर आप सुरक्षित त्योहार मनाना चाहते हैं तो अपने घर में ही मिठाइयां बना लें।

त्योहारी सीजन में मिलावटखोरों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए जयपुर जिला प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे ‘शुद्ध के लिए युद्ध अभियान’ में आए दिन मिलावटी खाद्य सामग्रियों की पोल खुलती जा रही है। मिठाई के साथ मावा, पनीर, ड्रायफ्रूट्स, मसाले व अन्य खाद्य सामग्रियों में मिलावट पाई जा रही है। ऐसे में यदि सावधानी हटी तो कभी भी दुर्घटना घट सकती है।

मंगलवार को खाद्य निरीक्षकों की टीमों ने पावटा, दूदू, प्रगपुरा, चारदीवारी सहित कई क्षेत्रों में प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई की। अभियान के प्रभारी एवं अतिरिक्त जिला कलक्टर चतुर्थ अशोक कुमार ने बताया कि प्रथम टीम के पावटा स्थित मैसर्स यादव स्वीट्स पर पहुंचने पर भारी मात्रा में मिल्क केक तैयार किया जाता मिला।

जांच में पता चला कि दूध में से क्रीम को निकालकर शेष बचे सर्पेट में रिफाइंड सोयाबीन तेल, ग्लूकोज, चीनी मिलाकर मिल्क केक तैयार किया जा रहा था। टीम द्वारा तैयार मिल्क केक में से एक नमूना लेकर शेष लगभग डेढ़ क्विंटल मिल्क केक नष्ट कराया गया। इसी प्रकार दीपावली पर मिठाइयां तैयार करने के लिए टंकियों में लगभग डेढ़ क्विंटल मीठा मावा भरा हुआ रखा था, जिसमे फंगस लगी हुई थी. इसका भी एक नमूना लेकर शेष मावा नष्ट कराया गया।

टीम ने प्रागपुरा, पावटा स्थित मैसर्स शिव मिल्क प्रोडक्ट्स से मिल्क केक का एक नमूना लिया। चांदपोल, बाबा हरिश्चंद्र मार्ग स्थित मैसर्स सम्पत कचौरी, श्रीराम नमकीन भण्डार से चना दाल नमकीन का एक नमूना लिया गया। लालजी सांड का रास्ता स्थित मैसर्स भंवरलाल कैलाशचंद सौंध्या हलवाई के यहां से मावा और मूंग थाल बर्फी का एक नमूना लिया गया। चांदपोल बाजार स्थित मैसर्स लक्ष्मीनारायण बृजमोहन के यहां से मीठी फीणी का एक नमूना लिया गया।

द्वितीय टीम ने दूदू स्थित मैसर्स अन्नपूर्णा जोधपुर मिष्ठान भण्डार की निर्माण इकाई ट्रक स्टैंड से बर्फी मावा मिठाई का एक नमूना लिया। जयपुर डेयरी के प्रतिनिधि द्वारा मौके पर जांच करने पर यह बर्फी मावा मिठाई मिलावटी पाई गई। टीम ने मौके पर ही 40 किलो बर्फी मावा मिठाई नष्ट कराई।

Related posts

सीकर में भूकंप के झटके, 3.8 रही तीव्रता

admin

‘मनसंवाद’ हेल्पलाइन से हरी जाएगी युद्धग्रसित देशों से आने वाले छात्र-छात्राओं की पीड़ा

admin

झालावाड़ के अकलेरा पुलिस थाना क्षेत्र में मध्य प्रदेश से बारातियों को ला रही वैन और ट्रक की टक्कर में 9 लोगों की मौत..!

Clearnews