राजस्थान के केबिनेट मंत्री मास्टर भंवरलाल का निधन, मंगलवार को राजस्थान में राजकीय शोक

जयपुर राजनीति

जयपुर। राजस्थान के कैबिनेट मंत्री मास्टर भंवरलाल जी मेघवाल का लंबी बीमारी के बाद  सोमवार, 16 नवंबर को गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया। उनके असामयिक निधन के कारण मंगलवार, 17 नवंबर को राजस्थान में एक दिन का राजकीय शोक रहेगा और दिवंगत आत्मा के सम्मान में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। मेघवाल का अंतिम संस्कार 17 नवंबर को सुजानगढ़ में होगा। इस दिन राजस्थान सरकार के सभी विभागों और उपक्रमों में राजकीय अवकाश रहेगा। मेघवाल के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित देश के प्रमुख नेताओं ने शोक व्यक्त किया है।

कांग्रेस की बैठक स्थगित

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिका मंत्री भंवरलाल मेघवाल की पहचान दलित नेता के तौर पर थी। वे चूरु जिले के सुजानगढ़ विधानसभा क्षेत्र से विधायक थे। मेघवाल राजस्थान सरकार में शिक्षा मंत्री भी रहे थे। भंवरलाल मेघवाल के निधन की वजह से प्रदेश कांग्रेस ने मंगलवार को जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में होने वाली बड़ी बैठक स्थगित कर दी है। उल्लेखनीय है कि बुधवार को देर रात ब्रेन स्ट्रोक (Brain stroke) के बाद मेघवाल को मेदांता में भर्ती कराया गया था।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने जताया शोक

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मास्टर भंवर लाल के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा, “लंबी बीमारी से संघर्ष करते हुए हमारे मंत्रिमंडलीय सहयोग मास्टर भंवर लाल मेघवाल का निधन हो जाने से मैं गहरे सदमे में हूं। हम 1980 से साथ थे। मैं हृदय से कामना करता हूं कि ईश्वर उनके शोक संतप्त परिवार को इस कठिन समय में दुख सहन करने की शक्ति प्रदा करें।“  राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने भी मेघवाल के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा,  “कुशल जनप्रतिनिधि व कुशल प्रशासक थे। स्वर्गीय मेघवाल ने राज्य सरकार के विभिन्न विभागों का दायित्व ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा से पूरा किया। उनके निधन से प्रदेश को अपूरणीय क्षति हुई है।“  उनके अलावा चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, वरिष्ठ नेता सचिन पायलट और कई अन्य नेताओं ने मास्टर भंवर लाल के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुधरा राजे ने भी शोक व्यक्त किया

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि “कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं केबिनेट मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल के निधन से मैं आहत हूं। उनका निधन सिर्फ़ कांग्रेस के लिए ही नहीं बल्कि समूचे प्रदेश के लिए एक अपूरणीय क्षति है। मैं ईश्वर से दिवंगत की आत्मा की शांति व उनके परिजनों को दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना करती हूं।“ प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा, “ मा.भंवरलाल जी का निधन राज्य की राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है,राज्य की राजनीति में एक युग का अवसान है, वे राज्य के वंचितों के लिए संबल और स्वाभिमान के प्रतीक थे, मेरे प्रति उनका स्नेह अद्भुत था, हमेशा हौंसलाअफजाई करते थे, वे हमेशा स्मृतियों में रहेंगे।“

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *